Home > हेल्थ > गर्मी के मौसम में बार-बार पानी पीने के बाद भी न बुझे प्यास, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

गर्मी के मौसम में बार-बार पानी पीने के बाद भी न बुझे प्यास, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

गर्मी के मौसम में अक्सर होता है कि बार-बार पानी पीने के बाद भी प्यास नहीं बुझ पाती। कितना भी पानी पी लो लेकिन पानी पीने के बाद भी गला सूखा-सूखा सा महसूस होता है।

 Vikas Kumar |  2018-05-25 09:17:49.0  |  नई दिल्ली

गर्मी के मौसम में बार-बार पानी पीने के बाद भी न बुझे प्यास, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय

नई दिल्ली : गर्मी के मौसम में अक्सर होता है कि बार-बार पानी पीने के बाद भी प्यास नहीं बुझ पाती। कितना भी पानी पी लो लेकिन पानी पीने के बाद भी गला सूखा-सूखा सा महसूस होता है। ऐसे में अगर बार-बार पानी पिने का मन करें तो आप इन घरेलू उपायों को आजमाकर इनसे निजात पा सकते है।

दरअसल गर्मी के दिनों में बाहरी तापमान के साथ-साथ शरीर के अंदर का तापमान भी ज्यादा होता है। जिसकी वजह से आपको ज्यादा प्यास लगती है। ऐसे में आपके शरीर को पानी एवं द्रव्य पदार्थों की आवश्यकता भी ज्यादा होती है, ताकि तापमान में संतुलन बना रहे।

अपनाएं ये घरेलू उपाय:

1) अगर आपको बार बार पानी पीने का मन कर रहा है तो आप पानी में शहद मिलाकर कुल्ला करें या आप लौंग को मुंह में रखकर चूसें। इससे आपको बार-बार लगने वाली प्यास शांत होगी।

2) चावल के मांड(चावल का पानी) में शहद मिलाकर पीने से भी तृष्णा रोग में आराम मिलता है। इससे बार-बार लगने वाली प्यास नहीं लगती।

3) पुदीने की पत्तियों को पीसकर ठंढे पानी में मिलाकर पीने से भी बार बार लगने वाली प्यास नहीं लगती है।

4) आप जौ के भुने सत्तू को पानी में घोलकर भी पी सकते है। आप सत्तू को पानी में घोलते वक्त थोड़ा सा घी मिलाकर पतला-पतला पिएं। इसे पीने से भी आपको बार-बार लगने वाली प्यास शांत होगी।

5) अगर आपको बार-बार प्यास लगती हैं तो आप अनानास के ऊपरी छिलका और भीतर के कठोर भाग निकाल कर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर दें, इन टुकड़ों को पानी में पकाकर नरम बनाएं और फिर चीनी की चाशनी बनकर उसमें डाल दें। इस मुरब्बे जैसे जूस का सेवन करने से प्यास शांत होती है और शरीर की जलन शांत होता है, इससे हृदय को भी बल मिलता है।

6) आप गाय के दूध से बना दही 125 ग्राम, शकर 60 ग्राम, घी 5 ग्राम, शहद 3 ग्राम व काली मिर्च-इलायची चूर्ण 5-5 ग्राम लें। इस सबकों दही के साथ अच्छी तरह मिलाकर किसी स्टील या कलई वाले बर्तन में रख लें। फिर उसमें से थोड़ा-थोड़ा दही सेवन करें। ऐसा करने से बार-बार लगने वाली प्यास नहीं लगेगी।

7) दो चमच्च दही में छोटी इलायची पीसकर मिला लें, इसे चाटने से प्यास बुझती है। इससे बार-बार लगने वाली प्यास शांत होगी।

Tags:    
Share it
Top