Home > हेल्थ > जानिए: कैसे पाये यौन दुर्बलता से छुटकारा और लें जीवन का भरपूर आनंद ?

जानिए: कैसे पाये यौन दुर्बलता से छुटकारा और लें जीवन का भरपूर आनंद ?

 Special News Coverage |  2015-09-25 14:26:49.0

s_2099865b

अपनी सेक्‍स क्षमता और यौन प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए आप आयुर्वेद का सहारा लें सकते है। आयुर्वेद के द्वारा यौन रोग, यौन दुर्बलता, आंशिक व नपुंसकता का सही रूप से इलाज किया जा सकता है। आयुर्वेद के अंदर मुख्य चिकित्सा ग्रंथ चरक संहिता, सुश्रुत संहिता में संभोग शक्ति को बढ़ाने जैसे कार्य करने के अंदर आने वाला यौन विकार व यौन दुर्बलता से संबंध रखने वाले सभी कारण तथा अलग-अलग परिस्थितियों में अलग-अलग तरह की औषधि से इलाज करना बताया गया है। यदि यौन दुर्बलता का पूरे भरोसे व शांति के साथ इसका उपचार किया जाए तो इसका सम्पूर्ण इलाज किया जा सकता है। ऐसी भारतीय जड़ी बूटियां है जिनका सेवन करके आप अपनी सेक्‍स क्षमता को प्राकृतिक रूप से बढ़ा सकते हैं। तो देर किस बात की, जल्‍दी से इन भारतीय जड़ी बूटियों का इस्‍तेमाल कर सुधारे अपनी सेक्‍सुअल प्रदर्शन को।


<urad-ki-dal
strong>उदड़ की दाल: घी के साथ उड़द की दाल को भूनकर और इसके अंदर दूध को मिलाकर तथा अच्छी तरह से पकाकर इसकी खीर तैयार कर लें। इसके बाद इसमें चीनी या खांड मिलाकर इसका इस्तेमाल करने से वीर्य में बढ़ोत्तरी होती है तथा संभोग करने की शक्ति भी बढ़ जाती है।

शतावरी का चूर्ण: शतावरी के चूर्ण 20 ग्राम को 150 मिलीलीटर गाय के दूध के साथ मिलाकर 600 मिलीलीटर पानी के अंदर उबाल लें। उसके बाद केवल दूध बाकी रह जाने पर इसे आंच से नीचे उतारकर इसके अंदर चीनी या खांड मिलाकर इस दूध को पीने से सेक्स करने की शक्ति बढ़ जाती है तथा शिश्न (लिंग) में भी बहुत अधिक उत्तेजना आ जाती है।

Unknown-1
आंवला: 100 ग्राम आंवले के चूर्ण को लेकर आंवले के रस में 7 बार भिगों लें इसके बाद इसे छाया में सूखने के लिए रख दें। इसके सूख जाने के बाद इसको इमामदस्ते से कूट-पीसकर रख लें। रोजाना इस चूर्ण को एक चम्मच (लगभग 5 ग्राम की मात्रा में) लेकर शहद के साथ मिलाकर चाट लें तथा इसके ऊपर से एक गिलास दूध पी लें। इसके सेवन करने से संभोग क्रिया में अजीब की शक्ति प्राप्त होती है।

सेमल की जड़: 5 मिलीलीटर से 10 मिलीलीटर के आसपास पुराने सेमल की जड़ का रस निकालकर व इसका काढ़ा बना लें तथा इसके अंदर चीनी मिला लें। इस मिश्रण को 7 दिनों तक पीने से वीर्य की बहुत ही अधिक बढ़ोत्तरी होती है।

कौंच के बीज: तालमखाने तथा शुद्ध कौंच के बीज के चूर्ण को बराबर-बराबर मात्रा में लेकर इसके अंदर दुगुनी मिश्री मिलाकर इसका चूर्ण बनाकर रख लें। रोजाना के समय में 2 चम्मच चूर्ण (लगभग 10 ग्राम के आसपास) को ताजे दूध के साथ मिलाकर खाने से सेक्स क्रिया करने की शक्ति सें आई कमजोरी भी नष्ट हो जाती है।

गोखरू: तालमखाने के बीज, गोखरू, शुद्ध कौंच के बीज, शतावरी, कंघी का जड़ तथा नागबला- इन सबको बराबर-बराबर की मात्रा में ले लें। इनको लेकर कूट-पीसकर इनका चूर्ण बनाकर रख लें। रात के समय में इस चूर्ण की 6 ग्राम की मात्रा को दूध के साथ प्रयोग करें। इस चूर्ण का सेवन करने से पुरुष की सेक्स क्षमता की कमजोरी दूर हो जाती है तथा व्यक्ति संभोग करने में काफी निपुण हो जाता है।

Imli
इमली के बीज: 10 ग्राम इमली के बीजों को लेकर उन बीजों को पानी में भिगोकर 4-5 दिनों के लिए रख दें तथा पाचवें दिन उन बीजों का छिलका उतारकर उनका वजन करके देखें। उनका वजन करने के बाद उनके वजन से दुगुना पुराने गुड़ को लेकर उन बीजों में मिलाकर रख दें। इसके बाद इन्हें बारीक पीसकर अच्छी तरह से घोट लें। तत्पश्चात इस मिश्रण की चने के बराबर बारीक-बारीक गोलियां बना लें। सेक्स क्रिया शुरू करने के 1 से 2 घंटे पहले दो गोलियों को खा लें। इसका सेवन करने से सेक्स शक्ति में अजीब की शक्ति आ जाती है।

Ashwgandha
नागौरी असगंध: 500 ग्राम विधारा और 500 ग्राम नागौरी असगंध- इन दोनों को ले लें। फिर इसे अच्छी तरह से कूट-पीसकर तथा इसे छानकर रख लें। सुबह के समय रोजाना इस चूर्ण को 2 चम्मच खा लें। उसके बाद ऊपर से मिश्री मिला हुआ गर्म-गर्म दूध को पी लें। इस चूर्ण का इस्तेमाल करने से बुजुर्ग व्यक्ति भी जवानों के समान संभोग करने में निपुण हो जाता है।



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">



अगर हम इन पदार्थों का इस्तेमाल रोजाना तथा ठंड (सर्दी) के मौसम में करें तो संभोग करने की कमजोरी पैदा नहीं होती है। वे कुछ उपाय इस प्रकार से हैं-

<> सर्दी के दिनों में गाय के दूध में मिश्री मिलाकर पीने से सेक्स करने की कमजोरी दूर हो जाती है। मलाई व मिश्री मिलाकर खीर का सेवन करने से यौन दुर्बलता की समस्या दूर हो जाती है।
<> उड़द की दाल व बादाम का हलवा खाने से यौन शक्ति की कमजोरी दूर हो जाती है।
<> छुहारे मिलाकर उबाला हुआ दूध पीना चाहिए। गाय के घी का प्रयोग करना चाहिए।
<> गोंद के लड्डू तथा तिल के लड्डू को खाने से संभोग करने में आई कमजोरी दूर हो जाती है।

<> रात के समय में 4-5 पीस बादाम को भिगोकर, 2 से 4 अंजीर, नारियल की गिरी, छुहारे, तालमखाना. चिलगोजे, पिस्ता तथा 8-10 मुनक्का, इसमें से किसी भी एक चीज का प्रयोग अपनी शक्ति के अनुसार करने से सेक्स क्षमता में आई कमजोरी दूर हो जाती है।

<> चीकू, केला, मीठा अनार, आम, कच्चा नारियल एवं ताजे फलों का रस सेवन मौसम के अनुसार सेवन करने से यौन की दुर्बलता दूर हो जाती है।

आयुर्वेद एक ऐसी चिकित्सा है जिससे सेक्स की कमजोरियों को दूर करने के लिए एक ही नहीं अपितु बहुत से इलाज व उपाय हैं। सभी पुरुषों को ठीक करने के लिए अलग-अलग तरीके के इलाज हैं। ये सभी चिकित्सा उन लोगों के रहन-सहन व अन्य चीजों पर निर्भर करती हैं। इसलिए चिकित्सक से ही चिकित्सा कराने से अवश्य ही कामयाबी मिलती है।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें

Share it
Top