Home > अंतर्राष्ट्रीय > US ने माना 'अरुणाचल प्रदेश' भारत का हिस्सा है, चीन ने किया विरोध

US ने माना 'अरुणाचल प्रदेश' भारत का हिस्सा है, चीन ने किया विरोध

 Special News Coverage |  2016-05-05 13:48:29.0

US ने माना 'अरुणाचल प्रदेश' भारत का हिस्सा है, चीन ने किया विरोध

बीजिंग: अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा बताने को लेकर चीन भड़क गया है। चीन ने अमेरिकी राजनयिक के बयान पर नाराजगी जाहिर की है। चीन ने कहा कि वह इस मामले में अमेरिका से सफाई तलब करवाएगा। उसने कहा कि भारत-चीन सीमा विवाद में वह तीसरे पक्ष की दखलंदाजी पसंद नहीं करेगा। उल्लेखनीय है है कि भारत के राज्य अरूणाचल प्रदेश को चीन अपने देश का हिस्सा मानता है।

गौरतलब है कि 28 अप्रैल को ईटानगर में अरूणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री कलिखो पुल के साथ अपनी मुलाकात के दौरान अमरीकी महावाणिज्यदूत क्रेग एल हॉल ने कहा कि अमेरिकी सरकार का रूख पूरी तरह साफ है कि अरूणाचल प्रदेश भारत का एक अभिन्न अंग है।


इस पर चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीनी पक्ष ने रिपोर्ट पर गौर किया है और अमरीकी पक्ष से सत्यापन और स्पष्टीकरण के लिए कहा जाएगा। साथ ही मंत्रालय ने ये भी कहा कि साफ तौर पर अमेरिकी पक्ष का बयान तथ्यों से पूरी तरह परे है।

आपको बता दें कि चीन अरूणाचल प्रदेश को दक्षिणी तिब्बत कहता है और उस पर अपनी दावेदारी जताता रहा है। चीन का कहना है कि दोनों देश समझदार हैं और अपने अपने हितों की रक्षा करने में सक्षम हैं। पिछले महीने दोनों देशों के विशेष प्रतिनिधियों राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और उनके चीनी समकक्ष यांग जाइची के बीच सीमा वार्ता का 19वां दौर पूरा हुआ था। उन्‍होंने कहा, चीनी पक्ष को इस तथ्य से स्पष्ट तौर पर अवगत करा दिया गया है कि अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न तथा अहस्तांतरणीय अंग है।

चीन का कहना है कि सीमा विवाद 2,000 किलोमीटर, खासकर पूर्वी सेक्टर में अरूणाचल प्रदेश, तक सीमित है जबकि भारत का कहना है कि इस विवाद में 1962 के युद्ध के दौरान चीन की ओर हड़प लिया गया अक्साई चिन सहित समूची एलएसी शामिल है। विदेश राज्यमंत्री ई अहमद ने कहा, चीन अरुणाचल प्रदेश राज्य में करीब 90 हजार वर्ग किलोमीटर के भारतीय क्षेत्र पर दावा करता है।

Tags:    
Share it
Top