style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">



जानिये 'होकुऊ' के बारे में
होकुऊ चीन में रहने वाले लोगों की पहचान के लिए ऑफिशियल रिकॉर्ड है। होकुऊ होल्डर को सोशल सर्विसेज के तहत फ्री एजुकेशन, हेल्थकेयर और बाकी फायदे मिलते हैं।

क्या-क्या हुई परेशानी 'होकुऊ' ना होने से
जुलाई में होकुऊ पाने वाले परिवार के तीसरे बच्चे झांग जेलॉन्ग ने डेली ग्लोबल टाइम्स को बताया कि उसके सात में चार भाई-बहनों को नौ साल की कम्पलसरी एजुकेशन के बाद स्कूल से निकाल दिया गया है। क्योंकि तब तक ये होकुऊ होल्डर नहीं थे। प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे इस कपल के दो छोटे बच्चों पर भी भविष्य में स्कूल से निकाले जाने का खतरा मंडरा रहा है। झांग का कहना है कि बिना अच्छी एजुकेशन के उनके लिए नौकरी मिलना भी मुश्किल है। बिना आईडी कार्ड के हॉस्पिटल भी इलाज करने से इनकार कर दे रहे हैं। झांग ने बताया कि होकुऊ के बिना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं मिलने से उसकी बहन का तलाक हो गया और इस वजह से वो डिप्रेशन में चली गई है।
साभार: भास्कर

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


", | "url" : "http://specialcoveragenews.in/international-news/chinese-family-fined-71-lakhs-for-having-7-children-world-hindi-news/", | "publisher" : { | "@type" : "Organization", | "name" : "Special Coverage News", | "logo" : { | "@context" : "http://schema.org", | "@type" : "ImageObject", | "contentUrl" : "http://specialcoveragenews.in/images/logo.png", | "height": "150", | "width" : "50", | "url" : "http://specialcoveragenews.in/images/logo.png" | } | }, | "mainEntityOfPage": { | "@type": "WebPage", | "@id": "http://specialcoveragenews.in/international-news/chinese-family-fined-71-lakhs-for-having-7-children-world-hindi-news/" | } | }
Home > अंतर्राष्ट्रीय > चीन में 7 बच्चों वाले परिवार पर लगा 71 लाख रुपए का जुर्माना

चीन में 7 बच्चों वाले परिवार पर लगा 71 लाख रुपए का जुर्माना

 Special News Coverage |  2015-10-12 13:00:58.0

chine


बीजिंग : चीन में एक परिवार पर वन चाइल्ड पॉलिसी का उल्लंघन करने पर तगड़ा जुर्माना लगा है। सात बच्चों वाले एक परिवार पर 71 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। बीजिंग के तोंगझोऊ डिस्ट्रिक्ट में रह रहे इस कपल के तीन लड़के और चार लड़कियां हैं।

लोकल पॉपुलेशन और फैमिली प्लानिंग कमीशन की ओर से जारी डॉक्युमेंट के मुताबिक, इस परिवार को अपने चार बच्चों के लिए ये जुर्माने की रकम अदा करनी है। इन चारों बच्चों के पास अब तक होकुऊ यानी जरूरी रेजिडेंशियल परमिट नहीं है, जो देश की तीन दशक पुरानी फैमिली प्लानिंग पॉलिसी का उल्लंघन है। सरकारी बीजिंग न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, ये जुर्माना 2012 में रूरल रेजिडेंस की सालाना इनकम पर आधारित है। इसमें सरचार्ज भी जोड़े गए हैं।




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">



जानिये 'होकुऊ' के बारे में
होकुऊ चीन में रहने वाले लोगों की पहचान के लिए ऑफिशियल रिकॉर्ड है। होकुऊ होल्डर को सोशल सर्विसेज के तहत फ्री एजुकेशन, हेल्थकेयर और बाकी फायदे मिलते हैं।

क्या-क्या हुई परेशानी 'होकुऊ' ना होने से
जुलाई में होकुऊ पाने वाले परिवार के तीसरे बच्चे झांग जेलॉन्ग ने डेली ग्लोबल टाइम्स को बताया कि उसके सात में चार भाई-बहनों को नौ साल की कम्पलसरी एजुकेशन के बाद स्कूल से निकाल दिया गया है। क्योंकि तब तक ये होकुऊ होल्डर नहीं थे। प्राइमरी स्कूल में पढ़ रहे इस कपल के दो छोटे बच्चों पर भी भविष्य में स्कूल से निकाले जाने का खतरा मंडरा रहा है। झांग का कहना है कि बिना अच्छी एजुकेशन के उनके लिए नौकरी मिलना भी मुश्किल है। बिना आईडी कार्ड के हॉस्पिटल भी इलाज करने से इनकार कर दे रहे हैं। झांग ने बताया कि होकुऊ के बिना मैरिज सर्टिफिकेट नहीं मिलने से उसकी बहन का तलाक हो गया और इस वजह से वो डिप्रेशन में चली गई है।
साभार: भास्कर

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


Share it
Top