Home > अंतर्राष्ट्रीय > विमान गिराने पर भड़के पुतिन, ओबामा बोले- तुर्की को अपनी हवाई सीमा की रक्षा का अधिकार

विमान गिराने पर भड़के पुतिन, ओबामा बोले- तुर्की को अपनी हवाई सीमा की रक्षा का अधिकार

 Special News Coverage |  2015-11-25 07:34:37.0

news

वाशिंगटन : सीरिया सीमा पर तुर्की के रूसी लड़ाकू विमान गिराने से नाराज रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी, लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इस मामले में रूस का समर्थन नहीं किया।

ओबामा ने फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से मुलाकात के बाद कहा कि तुर्की को बाकी देशों की तरह अपने क्षेत्र और एयरस्पेस की रक्षा करने का अधिकार है। ओबामा का मतलब साफ है कि तुर्की ने रूस का विमान गिराकर गलत नहीं किया। ओलांद वॉशिंगटन में ओबामा से मिलने गए थे।


इससे पहले रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि जेट विमान गिराना पीठ में छुरा घोंपने जैसा है, जो कि भविष्य में तुर्की के साथ रूसी संबंधों को बुरी तरह प्रभावित करेगा। रूस ने इस कार्यवाही से नाराज होकर तुर्की के साथ रक्षा संबंध तोड़ दिए हैं। रूस के रक्षा मंत्री ने तुर्की से रक्षा संबंध तोडऩे का ऐलान किया। जबकि नाटो ने इस मामले को लेकर आपात बैठक बुलाई है।

तुर्की की सेना ने कहा कि विमान ने पांच मिनट की अवधि में 10 बार तुर्की की हवाई सीमा का उल्लंघन किया, जिसके बाद दो एफ-16 विमानों ने उसे मार गिराया। मास्को का दावा है कि विमान सीरियाई सीमा के भीतर था। इस बीच, तुर्की के एक अधिकारी ने कहा है कि इस रूसी विमान के दोनों पायलट जिंदा हैं। पहले इनको लेकर अलग-अलग तरह की खबरें आ रही थीं।

सीरियाई आकाश में रूस, अमेरिका, फ्रांस, तुर्की और कुछ खाड़ी देशों के विमानों की मौजूदगी से ऐसी आशंका लंबे समय से थी कि कोई भी घटना तुरंत बड़ा कूटनीतिक एवं सैन्य संकट पैदा कर सकती है। तुर्की के राष्ट्रपति कार्यालय ने कहा, ‘एक रूसी विमान सु-24 को नियमों के अनुसार गिराया गया क्योंकि इसने चेतावनी के बावजूद तुर्की की हवाई सीमा का उल्लंघन किया था।’ ब्रिटेन स्थित सीरियन ऑब्जर्वेटरी फार ह्यूमन राइट्स के प्रमुख रमी अब्दुर्रहमान ने कहा कि जंगी विमान तटीय लताकिया प्रांत के तुर्कमान पर्वतीय क्षेत्र में गिर गया।

तुर्की ने रूसी युद्धक विमान के सीरियाई सीमा के उपर हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने के मामले में विरोध दर्ज कराने के लिए अंकारा में रूस के चार्ज डिअफेयर्स को मंगलवार को तलब किया। यह पूरा प्रकरण रूसी विदेश मंत्री सर्गई लावारोव की तुर्की यात्रा की पूर्व संध्या पर हुआ है। लावारोह ने बुधवार को होने वाले अपने तुर्की दौरे का प्लान बदल लिया।

तुर्की ने नाटो की बैठक बुलाने का आह्वान किया है तो रूसी विदेश मंत्री सर्गई लावारोह ने बुधवार को होने वाले अपने तुर्की दौरे की योजना खत्म कर दी है। लावारोव का यह दौरा सीरिया संकट पर मतभेदों को दूर करने के मकसद से था।

तुर्की के प्रधानमंत्री अहमद दावुतोगलू ने कहा, हर किसी को यह जानना चाहिए कि जब कोई हमारी वायु अथवा भू सीमा का उल्लंघन करता है तो इसके खिलाफ कदम उठाना हमारा अंतरराष्ट्रीय अधिकार और राष्ट्रीय कर्तव्य है। उधर, अमेरिका ने कहा कि रूसी विमान को मार गिराए जाने की इस घटना से उसका कोई संबंध नहीं है।

Share it
Top