Home > अंतर्राष्ट्रीय > बंद होगा तेल का खेल! सबसे बड़ा पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड लायेगा सऊदी अरब

बंद होगा तेल का खेल! सबसे बड़ा पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड लायेगा सऊदी अरब

 Special News Coverage |  2016-04-02 07:39:38.0

बंद होगा तेल का खेल! सबसे बड़ा पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड लायेगा सऊदी अरब

सऊदी अरब लाएगा विश्व का सबसे बड़ा पब्लिक इनवेस्टमेंट फंड। तेल की गिरती कीमतों और सिमटते बाजार के चलते आर्थिक मुश्किलों से जूझ रहे सऊदी अरब ने उबरने का प्लान तैयार कर लिया है। सऊदी अरब ने तेल की बिक्री पर निर्भरता कम करने के लिए 2 ट्रिलियन डॉलर यानी 132 लाख करोड़ रु की होगी। यह भारत की मौजूदा जीडीपी के बराबर है। इस फैसले के पीछे ऑयल रिजर्व का कम होना और उसकी कीमतें गिरना है। साथ ही सऊदी सरकार ऑयल इकोनॉमी पर अपनी निर्भरता कम करना चाहती है।


सऊदी अरब के डिप्टी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने बिजनेस मीडिया हाउस ब्लूमबर्ग को दिए इंटरव्यू में ये अनाउंसमेंट की है। प्रिंस ने सऊदी अरब के आगामी प्लान को लेकर कहा कि सरकार 2 ट्रिलियन डॉलर का मेगाफंड तैयार करेगी, जिससे खर्चों को संभाला जा सके। स्टेट ऑयल कंपनी सऊदी अर्माको के शेयर पब्लिकली बेचे जाएंगेे। सऊदी प्रिंस ने कहा, "यह इस धरती पर अब तक सबसे बड़ा फंड है। अर्माको को जल्द से जल्द पब्लिक किया जाएगा।" हालांकि अर्माको के 5% से भी कम शेयर बेेचे जा चुके हैं। आपको बता दें इस फंड से खरीदी जा सकती हैं गूगल, एप्पल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी वर्ल्ड टॉप टेक कंपनीज।

सऊदी अरब किंग सलमान के बाद प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान दूसरे नंबर के सबसे पावरफुल शख्स हैं। उन्हें सऊदी अरब का मोस्ट पावरफुल और डायनेमिक शासक माना जाता है। वे देश की इकोनॉमिक पॉलिसी बनाने वाली काउंसिल के हेड भी हैं। आपको बता दे किं सऊदी अरब वर्ल्ड का सबसे बड़ा क्रूड ऑयल प्रोड्यूसर देश है।

सऊदी अरब अर्माको दुनिया की सबसे बड़ी ऑयल प्रॉड्यूसिंग कंपनी है। वह हर दिन 10 मिलियन बैरल ऑयल निकालता है। ये ग्लोबल प्रोडक्शन का 10% है। फिलहाल कंपनी के पास 160 बिलियन बैरल का रिजर्व है। सरकार की आमदनी पूरी तरह से तेल पर निर्भर है। बीते दशक में लंबे समय से सऊदी इकोनॉमी में गिरावट आ गई है। इसका कारण है तेल के दाम घटना। आपको बता दे जून 2014 में 100 डॉलर/बैरल से आज 39 डॉलर/बैरल हो गए हैं।

Tags:    
Share it
Top