style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष सैम कुटेसा ने सुरक्षा परिषद में सुधार से जुड़े मामलों पर मसौदा फैसले के लिए पूर्ण अधिवेशन बुलाया था। इसमें रूस, अमेरिका और चीन सहित प्रमुख देशों ने विचार दस्तावेज में योगदान से मौखिक रूप से जरूर समर्थन किया है, लेकिन इस पर कोई लिखित आश्वासन नहीं दिया।

भारत ने दस्तावेज की मंजूरी को ‘ऐतिहासिक’ और ‘अग्रणी’ करार दिया। भारत ने कहा, यह फैसला अंतर सरकारी प्रक्रिया को औपचारिक रूप से एक ‘अपरिवर्तनीय पाठ आधारित समझौते की राह’ पर आगे बढ़ाता है। इसने सुरक्षा परिषद में सुधारों को हासिल करने संबंधी वार्ता की ‘गति’ को बदल दिया है।


ताज़ा खबरों से जुड़े रहने के लिए फेसबुक पर लाइक करें - Facebook
ट्विटर पर फॉलो करें - Twitter
स्पेशल कवरेज न्यूज़ के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


", | "url" : "http://specialcoveragenews.in/international-news/world-hindi-news-united-nations-security-council-permanent-member/", | "publisher" : { | "@type" : "Organization", | "name" : "Special Coverage News", | "logo" : { | "@context" : "http://schema.org", | "@type" : "ImageObject", | "contentUrl" : "http://specialcoveragenews.in/images/logo.png", | "height": "150", | "width" : "50", | "url" : "http://specialcoveragenews.in/images/logo.png" | } | }, | "mainEntityOfPage": { | "@type": "WebPage", | "@id": "http://specialcoveragenews.in/international-news/world-hindi-news-united-nations-security-council-permanent-member/" | } | }
Home > अंतर्राष्ट्रीय > संयुक्त राष्ट्र की स्थायी सदस्यता में शामिल हो सकता है भारत, उम्मीद बढ़ी

संयुक्त राष्ट्र की स्थायी सदस्यता में शामिल हो सकता है भारत, उम्मीद बढ़ी

 Special News Coverage |  2015-09-15 03:19:24.0

united-nations-security-council


संयुक्त राष्ट्र : संयुक्त राष्ट्र महासभा ने सोमवार को भारत की स्थायी सदस्यता के लिए सर्वसम्मति से सुरक्षा परिषद में सुधारों के लिए बातचीत का दस्तावेज स्वीकार कर लिया। इससे मंगलवार से शुरू हो रहे विश्व निकाय के 70वें सत्र में इस मुद्दे पर वार्ता का रास्ता साफ हो गया है। साथ ही सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता के लिए भारत की दावेदारी को बल मिला है। भारत की इस कोशिश में मजबूरन ही सही चीन ने भी साथ दिया है।


संयुक्त राष्ट्र के करीब 200 सदस्य राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार की मांग पर चर्चा की मांग करते दस्तावेज के मसौदे पर अगले एक साल तक चर्चा करने के लिए राजी हो गए हैं। सुरक्षा परिषद इस वैश्विक संगठन में निर्णय लेने वाला शीर्ष अंग है। इस परिषद में 15 सदस्य होते हैं, जिनमें पांच राष्ट्र अमेरिका, चीन, रूस, ब्रिटेन, और फ्रांस स्थायी सदस्य हैं।



style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">




संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष सैम कुटेसा ने सुरक्षा परिषद में सुधार से जुड़े मामलों पर मसौदा फैसले के लिए पूर्ण अधिवेशन बुलाया था। इसमें रूस, अमेरिका और चीन सहित प्रमुख देशों ने विचार दस्तावेज में योगदान से मौखिक रूप से जरूर समर्थन किया है, लेकिन इस पर कोई लिखित आश्वासन नहीं दिया।

भारत ने दस्तावेज की मंजूरी को ‘ऐतिहासिक’ और ‘अग्रणी’ करार दिया। भारत ने कहा, यह फैसला अंतर सरकारी प्रक्रिया को औपचारिक रूप से एक ‘अपरिवर्तनीय पाठ आधारित समझौते की राह’ पर आगे बढ़ाता है। इसने सुरक्षा परिषद में सुधारों को हासिल करने संबंधी वार्ता की ‘गति’ को बदल दिया है।


ताज़ा खबरों से जुड़े रहने के लिए फेसबुक पर लाइक करें - Facebook
ट्विटर पर फॉलो करें - Twitter
स्पेशल कवरेज न्यूज़ के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


Share it
Top