Home > राष्ट्रीय > एक बार फिर चीन तिलमिलाया, भारत पर मढ़ा आरोप

एक बार फिर चीन तिलमिलाया, भारत पर मढ़ा आरोप

चीन ने इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अरुणाचल दौरे आपत्ति जताई थी। चीन ने भारत को नसीहत देते हुए कहा है कि ऐसे वक्त में जब दोनों देशों के रिश्ते बेहद संवेदनशील दौर से गुजर रहे हैं।

 SCN Team |  2017-12-07 06:45:55.0  |  नई दिल्ली

एक बार फिर चीन तिलमिलाया, भारत पर मढ़ा आरोप

बीजिंग: भारतीय सेना को लेकर हमेशा से चीन गरमाया हुआ नजर आता है औऱ साथ ही आए दिन भारत पर आरोप गढ़ता रहता है। गुरुवार को चीन की ओर से दावा किया गया है कि भारत का एक ड्रोन (UAV) उसके एयरस्पेस में घुसा व क्रैश हो गया। ये मामला तब सामने आया है जब 11 दिसंबर को चीन के विदेश मंत्री भारत दौरे पर आने वाले हैं। चीन के वेस्टर्न कमांड ज्वाइंट स्टाफ डिपार्टमेंट के डिप्टी हेड झांग शुइली का कहना है कि भारतीय यूएवी ने हाल ही में चीन के एयरस्पेस में घुसपैठ की है।

चीन के कमांड ज्वाइंट डिप्टी हेड झांग शुइली ने कहा कि चीन के एयरस्पेस में भारतीय यूएवी ने हाल ही में घुसपैठ की। भारत-चीन बॉर्डर पर तैनात चीन के सैनिकों ने इस बात की पुष्टि की है। चीन ने कही कि भारत के इस कदम ने सुरक्षा संप्रभुता का उल्लघंन किया है, हम इसका विरोध करते है। उन्होंने कहा कि चीन की संप्रभुता को सुरक्षित करने के लिए वे हर कदम उठाने को तैयार हैं।

आपको बता दें कि चीन ने इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अरुणाचल दौरे आपत्ति जताई थी। चीन ने भारत को नसीहत देते हुए कहा है कि ऐसे वक्त में जब दोनों देशों के रिश्ते बेहद संवेदनशील दौर से गुजर रहे हैं, भारत को इसका ध्यान रखना चाहिए। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा था कि भारत को मौजूदा हालात को देखते हुए इससे बचना चाहिए।

उधर चीन लगातार पाकिस्तान के समर्थन में आवाज उठाता रहा है। भारत का कहना है कि PoK भारत का अभिन्न हिस्सा है, जिस पर पाकिस्तान ने अवैध कब्जा कर रखा है। चीन PoK में CPEC का निर्माण कर रहा है, इसका भारत लंबे समय से विरोध कर रहा है। चीन की ओर से PoK में CPEC का निर्माण करना उसकी संप्रभुता का उल्लंघन है,इसी के चलते भारत ने चीन में आयोजित OBOR समिट का भी बहिष्कार किया था।

Tags:    
SCN Team

SCN Team

Never Give Up..


Share it
Top