Home > राष्ट्रीय > गुजरात चुनाव से पहले मोदी सरकार की एक और मार, घरेलू सिलेंडर 94 रूपए हुआ महंगा

गुजरात चुनाव से पहले मोदी सरकार की एक और मार, घरेलू सिलेंडर 94 रूपए हुआ महंगा

एक नवंबर से रसोई और कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में बदलाव होने से लोगों को गैस लेने के लिए अधिक दाम चुकाना पड़ेगा। देश की जनता को एक बार फिर महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी।

 SCN Team |  2017-11-01 06:11:47.0  |  नई दिल्ली

गुजरात चुनाव से पहले मोदी सरकार की एक और मार, घरेलू सिलेंडर 94 रूपए हुआ महंगा

नई दिल्ली: देश की जनता को एक बार फिर महंगाई की मार झेलनी पड़ेगी। तेल कंपनियों ने बिना सब्सिडी वाली रसोई गैस की कीमत में 94 रुपए और सब्सिडी वाले सिलेंडर के दामों में 4 रुपए 56 पैसे की बढ़ोतरी की है। चार माह से गैस सिलेंडर के रेट में चार रुपए प्रति माह की मामूली वृद्धि हो रही थी, लेकिन गत रात इसमें 93.50 रुपए का बड़ा इजाफा कर दिया गया। इससे गैस सिलेंडर की कीमत बढ़कर करीब 751 रुपए हो गई।

एक नवंबर से रसोई और कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में बदलाव होने से लोगों को गैस लेने के लिए अधिक दाम चुकाना पड़ेगा। 31 अक्टूबर तक 696 रुपये में मिलने वाला 14.2 किलो का सिलेंडर अब एक नवंबर से 789 रुपये 50 पैसे में मिलेगा। इसी प्रकार कमर्शियल सिलेंडर अभी तक 1243 रुपये में मिलता था, अब वह 1389 रुपये 50 पैसे में मिलेगा। ऑल इंडिया एलपीजी फेडरेशन के सचिव केपी मिश्र का कहना है कि एक नवंबर से घरेलू और कमर्शियल गैस महंगी हो जाएगी। अक्टूबर महीने तक घरेलू सिलेंडर पर 203 रुपये 10 पैसे सब्सिडी मिलती थी, एक नवंबर से 292 रुपये दो पैसे सब्सिडी मिलेगी। उन्होंने कहा कि छह महीने पहले रसोई गैस 93 रुपये और कमर्शियल गैस 156 रुपये महंगी हुई थी। उसके बाद इस महीने बढ़ोतरी हुई है।

तीन माह में 141 रूपए 50 पैसे बढ़े

पिछले तीन महीने में रसोई गैस 141 रुपये 50 पैसे महंगी हो गई है। कमर्शियल सिलेंडर 223 रुपये 50 पैसे महंगा हो गया है। एक सितंबर को घरेलू गैस 648 रुपये और कमर्शियल सिलेंडर 1166.50 रुपये था, जो एक अक्टूबर को बढ़कर 696 रुपये (14.2 किलो) और 1243.00 (19 किलो) रुपये हो गया था।

Tags:    
SCN Team

SCN Team

Never Give Up..


Share it
Top