Home > राष्ट्रीय > बेंच आवंटन की याचिका पर सुनवाई से जस्टिस चेलमेश्वर का इंकार, कहा- नहीं चाहता 24 घंटे में आदेश पलटे

बेंच आवंटन की याचिका पर सुनवाई से जस्टिस चेलमेश्वर का इंकार, कहा- नहीं चाहता 24 घंटे में आदेश पलटे

आवंटन अधिकार को चुनौती देने वाली याचिका पर जस्टिस चेलमेश्वर ने सुनवाई से इंकार कर दिया है?

 Arun Mishra |  2018-04-12 07:26:16.0  |  दिल्ली

(File Photo)Justice Chelameswar

नई दिल्ली : प्रशांत भूषण की चीफ जस्टिस द्वारा कार्य के आवंटन अधिकार को चुनौती देने वाली याचिका पर जस्टिस चेलमेश्वर ने सुनवाई से इंकार कर दिया है। जस्टिस ने कहा कि मैं नहीं चाहता कि मेरा आदेश 24 घंटे में ही पलट दिया जाए।

जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि मेरे रिटायरमेंट को कुछ ही दिन बचे हैं। जब देश इस मामले में कुछ नहीं चाहता तो मैं इस मामले में क्या कर सकता हूं। मेरे लिए कहा जा रहा है कि मैं किसी ऑफिस को हथियाने के लिए ये कर रहा हूं। अगर किसी को चिंता नहीं है तो मैं भी चिंता नहीं करूंगा। देश के इतिहास को देखते हुए में जाहिर तौर पर मामले को नहीं सुनूंगा।
दरअसल प्रशांत भूषण ने जस्टिस चेलामेश्वर के सामने शांति भूषण की याचिका को मेंशन करते हुए कहा कि उन्होंने चीफ जस्टिस के मास्टर ऑफ रोस्टर को चुनौती दी है और कहा है कि केसों के आवंटन का काम कॉलेजियम के जजों को करना चाहिए। लेकिन सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री इसका डायरी नंबर नहीं दे रही है। चूंकि हमने मांग की है कि मामला चीफ जस्टिस से जुड़ा है इसलिए वो ना सुनें। मामले की सुनवाई वरिष्ठ जजों को करनी चाहिए।
जस्टिस चेलामेश्वर ने कहा कि ये देश की दिक्कत है, देश ही इसका हल निकालेगा। जस्टिस चेलामेश्वर ने प्रशांत भूषण से कहा आपको मेरी दिक्कत पता है. आप ये समझते हैं। प्रशांत भूषण ने मामले को चीफ जस्टिस के सामने मेंशन किया है और कहा कि रजिस्ट्री देरी कर रही है। चीफ जस्टिस ने कहा कि वो मामले को देखेंगे।

Tags:    
Arun Mishra

Arun Mishra

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top