Home > राष्ट्रीय > खतरा अभी टला नहीं: 48 की मौत 50 से ज्यादा गंभीर घायल, छह राज्यों में तूफ़ान की चेतावनी

खतरा अभी टला नहीं: 48 की मौत 50 से ज्यादा गंभीर घायल, छह राज्यों में तूफ़ान की चेतावनी

दिल्ली एनसीआर में 109 प्रति किलोमीटर रफ्तार की तेज आंधी चली जिसमें दो लोंगों की जान चली गई.

 शिव कुमार मिश्र |  2018-05-14 03:12:42.0  |  दिल्ली

खतरा अभी टला नहीं: 48 की मौत 50 से ज्यादा गंभीर घायल, छह राज्यों में तूफ़ान की चेतावनी

भारतीय मौसम विभाग ने सोमवार को उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में आंधी-तूफान के साथ बारिश हो सकती है। इससे पहले रविवार को मौसम ने देश के उत्तर से लेकर दक्षिणी और पूर्व से लेकर पश्चिमी हिस्सों में तबाही मचाई।


24 घंटे के दौरान आंधी, तूफान और बारिश की वजह से हुए हादसों में छह राज्यों में 48 लोग मारे गए। 50 से ज्यादा लाेग जख्मी हुए। सबसे ज्यादा 18 मौतें उत्तरप्रदेश में हुईं। वहीं, पश्चिम बंगाल में 12, आंध्र में 9, तेलंगाना में 3, गुजरात में 4 लोगों की जान गई। दिल्ली में 109 किलोमीटर की रफ्तार से आंधी चली। जिससे दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 18 लोग घायल हो गए।


पूर्वांचल, मध्य यूपी व पश्चिमी यूपी में रविवार शाम आई अचानक आंधी-बारिश से जगह-जगह पेड़ व बिजली के खंभे गिरने से लोगों को बिजली व पानी की समस्या से जूझना पड़ा। संभल के रजपुरा क्षेत्र के गांव चाऊपुर की मढ़ैया में आंधी के दौरान करीब 50 घरों में आग लग गई। सहारनपुर के मिरजापुर में एक दुकान की दीवार गिर गई, जिससे दो लोग घायल हो गए। वहीं ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को भी नुकसान पहुंचा है।


उधर, मौसम विभाग ने पूर्वी यूपी के बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर, गोंडा, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती, फैजाबाद, सुल्तानपुर, आजमगढ़, अंबेडकरनगर, मऊ, देवरिया, बलिया, गाजीपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, इलाहाबाद, संत रविदासनगर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर व सोनभद्र जिलों में धूल भरी आंधी के साथ बारिश की चेतावनी जारी की है।


कासगंज में चार लोगों की मौत
तेज आंधी-बारिश के चलते कासगंज के फरोली गांव से मकान गिरने से मलबे में दबकर तीन लोगों की मौत हो गई और एक घायल हो गया। कासगंज के पटियाली में आंधी-बारिश के कारण ट्रैक्टर ट्राली पलट गई जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच लोग घायल हो गए। ताजनगरी में मौसम का मिजाज फिर बिगड़ गया। रविवार को दिनभर भीषण गर्मी रही। शाम को अचानक बादल छाए। बाह कस्बा क्षेत्र में बारिश हुई और ओले भी गिरे। धूल भरी आंधी से लोग परेशान हो गए। मौसम के जानकारों का कहना है कि सोमवार को भी धूल भरी आंधी आ सकती है।

फिरोजाबाद में आंधी-पानी के साथ ओलावृष्टि
जसराना, शिकोहाबाद, नारखी समेत पूरे फिरोजाबाद में रविवार शाम तेज आंधी के साथ बारिश हुई और ओले बरसे। आंधी आने के साथ ही शहर में बिजली गुल हो गई। कई जगह बिजली के तार टूट गए। हालांकि इससे किसानों की चिंता जरूर बढ़ गई। सुबह से चला आ रहा उमस और गर्मी भरा मौसम आंधी-पानी से कुछ सुहाना जरूर हो गया।घिरोर में आंधी-बारिश के ओले गिरे। वहीं मैनपुरी में रविवार शाम को मौसम अचानक बदल गया। घिरोर क्षेत्र में आंधी और बारिश के बीच ओले बरसे। वहीं शहर के साथ ही अन्य क्षेत्रों में बादल छाए हुए थे और तेज हवाएं चल रही थीं। बारिश होने की पूरी संभावना है।


एटा में आंधी-बारिश जैसा मौसम
एटा में देर शाम आंधी-बारिश शुरू हो गई। हालांकि यहां किसी तरह के नुकसान की खबर नहीं है। लेकिन आंधी के चलते एक बारात की बस पलटने से एक की मौत तीन गंभीर घायल हो गये जबकि 10 और भी घायल है। यह घटना जलेसर तहसील में घटित हुई है।


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के प्रभावित जिलों के अधिकारीयों से राहत और बचाब कार्य में तेजी और घायलों को समुचित इलाज की व्यवस्था मुहैया कराने के निर्देश जारी किये है। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में धूल भरी आंधी चलने से अचानक पूरा मौसम ही बदल गया। देखते ही देखते दिन का उजाला अंधेरे में बदल गया। तेज हवाएं चलने से सड़क पर चलने वाले लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दिल्ली में खराब मौसम की स्थिति को देखते हुए श्रीनगर से दिल्ली आने वाली विस्तारा फ्लाइट को अमृतसर ले जाया गया है।





Tags:    
शिव कुमार मिश्र

शिव कुमार मिश्र

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top