Home > अंतर्राष्ट्रीय > पाकिस्तान अमेरिका का 'दोस्त है या दुश्मन', अमेरिकी सांसद करेंगे बहस

पाकिस्तान अमेरिका का 'दोस्त है या दुश्मन', अमेरिकी सांसद करेंगे बहस

 Special Coverage News |  2016-07-10 06:29:34.0  |  वॉशिंगटन

पाकिस्तान अमेरिका का दोस्त है या दुश्मन, अमेरिकी सांसद करेंगे बहस

वॉशिंगटन: पाकिस्तान के दोहरे चरित्र से तंग आकर अमेरिकी सांसदों ने अमेरिकी कांग्रेस में अगले सप्ताह एक सुनवाई आयोजित करने का ऐलान किया है। इस सुनवाई में सिर्फ इस बात पर चर्चा की जाएगी कि पाकिस्तान आतंक के खिलाफ अमेरिका का दोस्त है या दुश्मन

अमेरिकी कांग्रेस सदस्य और सदन की विदेशी मामलों की समिति की आतंकवाद, परमाणु अप्रसार एवं व्यापार से संबंधित उप समिति के अध्यक्ष टेड पो ने कहा कि 'इस सुनवाई से सदस्यों को आतंकी समूहों के साथ
पाकिस्तान
के पुराने संबंधों के बारे में जानने का मौका मिलेगा और पाकिस्तान को लेकर अमेरिका की विदेशी नीति के बेहतर पुनर्मूल्यांकन का मौका मिलेगा। पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में दोस्त या दुश्मन? उन्होंने कहा कि अमेरिका, पाकिस्तान को विदेशी सहायता देने वाले प्रमुख देशों में है। 2002 के बाद से लेकर अब तक अमेरिका ने पाकिस्तान को 33 अरब डॉलर की धनराशि दी है।

इस सुनवाई का आयोजन विदेशी मामलों की समिति की आतंकवाद, परमाणु अप्रसार एवं व्यापार से संबंधी उप समिति तथा एशिया एवं प्रशांत से जुड़ी उप समिति कर रही है। उप समिति के सदस्य मैट सैलमोन ने
पाकिस्तान के इस दोहरे रवैए
के बारे में कहा है कि वर्ल्ड ट्रंड सेंटर पर हुए आतंकी हमले के बाद से टैक्स पेयर्स की अरबों डॉलर की कमाई पाकिस्तान को मदद स्वरुप दी है। उन्होने कहा कि 15 साल बाद भी पाकिस्तान के तार आतंकियों से जुड़ हुए है और क्षेत्र को स्थिर करने में बहुत कम सफलता मिली है। सैलमोन ने बताया कि सुनवाई में पाकिस्तान को लेकर प्रशासन की नाकाम नीति व आगे की योजना पर बहस होगी।

Tags:    
Share it
Top