Home > अंतर्राष्ट्रीय > भारत से सम्बन्ध रखने वाली प्रियंका योशीकावा के मिस जापान बनने से जापान में छिड़ी ये बहस

भारत से सम्बन्ध रखने वाली प्रियंका योशीकावा के मिस जापान बनने से जापान में छिड़ी ये बहस

 alok mishra |  2016-09-06 09:35:25.0  |  New Delhi

भारत से सम्बन्ध रखने वाली प्रियंका योशीकावा के मिस जापान बनने से जापान में छिड़ी ये बहस

भारत से संबंध रखने वाली प्रियंका योशीकावा को सोमवार को मिस जापान चुना गया है। प्रियंका के पिता भारतीय हैं तो वहीं उनकी मां जापानी हैं। उनके ताज पहनने ही नस्ली समानता की एक नई बहस छिड़ गई है। प्रियंका से एक साल पहले ही अरियाना मियामोतो जापान का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली अश्वेत महिला बनी थी। तब उन्हें काफी आलोचनाओं का सामना करन पड़ा था। इस घटना के साल भर बाद ही प्रियंका योशीकावा को यह ताजा पहनाया गया है। इस घटना के बाद से जापान में सोशल मीडिया पर यह ट्रेंड करने लगा कि मिस यूनीवर्स जापान पूरी तरह से जापानी होना चाहिए न कि 'आधा'। यहां पर आधा शब्द का इस्तेमाल मिश्रित नस्ल को लेकर किया गया है।

वहीं मिस जापान बनने के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान प्रियंका ने कहा कि उन्होंने जापान में नस्ली पूर्वाग्रह के खिलाफ लड़ाई जारी रखने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि हम जापानी हैं। हां, मैं आधी भारतीय भी हूं और लोग मुझसे मेरी नस्ली शुद्धता के बारे में पूछते हैं। मेरे पिता भारतीय हैं और मुझे इस पर गर्व है, मुझे गर्व है कि मेरे अंदर भारतीयता है।

22 साल की योशीकावा धाराप्रवाह जापानी और अंग्रेजी बोलती हैं। उन्होंने हाथियों के प्रशिक्षण का लाइसेंस भी मिला हुआ। माना जा रहा है कि किसी बॉलीवुड अदाकारा की तरह दिखने को लेकर उन्हें इस खिताब को जीतने में मदद मिली है। अब दिसंबर में वाशिंगटन में होने वाले मिस वर्ल्ड खिताब में वो जापान का प्रतिनिधित्व करेंगी।

Tags:    
Share it
Top