Home > अंतर्राष्ट्रीय > हत्या के जुर्म में सऊदी अरब के शहजादे को दी गई फांसी की सज़ा

हत्या के जुर्म में सऊदी अरब के शहजादे को दी गई फांसी की सज़ा

 Vikas Kumar |  2016-10-19 07:29:03.0  |  Saudi Arabia

हत्या के जुर्म में सऊदी अरब के शहजादे को दी गई फांसी की सज़ा

रियाद: सऊदी अरब में पहली बार शाही खानदान के किसी सदस्य को फांसी की सज़ा सुनाई गई है। सउदी अरब ने मंगलवार को मर्डर के जुर्म शाही खानदान के सदस्य शहजादे तुर्की बिन सउद अल कबीर को मौत की सजा दी। सऊदी अरब के गृह मंत्रालय के अनुसार तीन साल पहले रियाद में एक व्यक्ति की हत्या करने के मामले में सऊदी अरब के राजकुमार को मृत्युदंड दिया गया है।

दरअसल, राजकुमार ने अपने साथी की रियाद में हत्या कर दी थी। अल-कबीर पर
सऊदी नागरिक
आदिल अल-मोहम्मद की गोली मारकर हत्या करने का आरोप था। राजकुमार ने अपना जुर्म भी स्वीकार कर लिया। गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि प्रिंस तुर्की बिन सऊद अल कबीर को राजधानी रियाद में मौत की सजा दी गई।

गृह मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि इससे हर नागरिक को भरोसा मिलेगा कि सरकार न्याय और सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। एक समाचार एजेंसी के मुताबिक प्रिंस तुर्की बिन सऊद अल कबीर
2016 में मौत की सजा पाने वाले 134वें व्यक्ति हैं। लेकिन अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उन्हें मौत की सजा किस तरीके से दी जाएगी। गौरतलब है कि सऊदी अरब में ज्यादातर लोगों को सर क़लम करके मौत की सजा दी जाती है। ऐसा कम ही देखने को मिलता है कि शाही परिवार के किसी सदस्य को मौत की सजा दी जाए।

मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी के मुताबिक 2015 में सउदी अरब मौत की सजा देने वाले देशों की सूची में 158 फांसी के साथ ईराना और पाकिस्तान के बाद तीसरे नंबर पर था। पिछले 22 महीने के आंकड़ों के अनुसार यहां अब तक 292 लोगों को फांसी दी जा चुकी है।

अरब न्यूज ने नवंबर 2014 में खबर दी थी कि रियाद की एक अदालत ने अपने दोस्त की हत्या के जुर्म में एक अनाम शहजादे को मौत की सजा सुनाई। सऊदी अरब के कानून के अनुसार ऐसे मामलों में अगर पीडित परिवार वाले आर्थिक मुआवजा स्वीकार करें तो दोषी छूट सकता है। लेकिन पीड़ित के परिवार ने 'ब्लड मनी' लेने से इनकार कर दिया था। इससे पहले सऊदी अरब में वर्ष 1975 में शाह फैसल की हत्या करने वाले शाही परिवार के सदस्य फैसल बिन मुसैद अल सऊद को भी मौत की सजा दी गई थी।

Tags:    
Vikas Kumar

Vikas Kumar

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top