Home > अंतर्राष्ट्रीय > दुनिया की सबसे खतरनाक महिला 'जासूस', किए ऐसे काम, जानकर हैरान हो जायेगे

दुनिया की सबसे खतरनाक महिला 'जासूस', किए ऐसे काम, जानकर हैरान हो जायेगे

 Special Coverage News |  2016-08-13 10:55:11.0  |  पेरिस

दुनिया की सबसे खतरनाक महिला जासूस, किए ऐसे काम, जानकर हैरान हो जायेगे

पेरिस: दुनियाभर में जासूसों की कहानियां बड़ी दिलचस्प हुआ करती हैं। आज हम ऐसी ही एक महिला जासूस के बारे में आपको बताते हैं। जिसका नाम था माता हारी। इस महिला को दुनिया की सबसे खतरनाक महिला जासूस के तौर पर जाना जाता है।

7 अगस्त 1876 को जन्मी माता हारी नीदरलैंड में पैदा हुई और पेरिस में पली-बढ़ी। असली नाम था- गेरत्रुद मार्गरेट जेले। वह एक पेशेवर डांसर भी थी। गेरत्रुद मार्गरेट जेले का इंडिया कनेक्शन भी है। जेले ने भारतीय नृत्य कला में पारंगत थी और अपने उत्तेजक डांस को लेकर लोगों में काफी पॉपुलर थी। वह भी खुद को इग्जॉटिक डांसर कहती थी। कई देशों के शीर्ष सेना अधिकारियों, मंत्रियों, राजशाही के सदस्यों से उसके नज़दीकी रिश्ते थे।

लेकिन उसका असली पेशा डांस करना नहीं, बल्कि अपने शरीर और कामुक अदाओं से बड़े लोगों की जासूसी करना था। इसके लिए वह जिस्मानी रिश्ते बनाने से भी परहेज नहीं करती थी। जेले का पति अव्वल दर्जे का शराबी था। वह नीदरलैंड की शाही सेना में अधिकारी था और इंडोनेशिया में तैनात था। कई बार वह अपनी पत्नी की पिटाई कर चुका था। इस दौरान जेले इंडोनेशिया में ही एक डांस कंपनी में शामिल हो गईं और अपना नाम बदलकर माता हारी कर लिया।

मलय भाषा में माता हारी का अर्थ होता है दिन की आंख यानी सूर्य। नीदरलैंड्स लौटने के बाद 1907 में माता हारी ने अपने पति को तलाक दे दिया और पेशेवर डांसर के रूप में पेरिस चली गई। पहले विश्व युद्ध के दौरान माता हारी ने फ्रांस, नीदरलैंड्स और स्पेन के बीच कई यात्राएं कीं। एक बार जब वह स्पेन जा रही थी तो उसे इंग्लैंड के फालमाउथ बंदरगाह पर गिरफ्तार कर लिया गया।

फ्रांसीसी और ब्रिटिश खुफिया तंत्र को संदेह था कि माता हारी जर्मनों के लिए जासूसी करती है, लेकिन उनके पास कोई सबूत नहीं थे। हालांकि, इसके बावजूद उस पर डबल एजेंट होने का इल्जाम लगाया गया और फ्रांस में फायरिंग स्क्वैड ने उसे गोलियों से भून दिया गया।

Tags:    
Share it
Top