Home > अंतर्राष्ट्रीय > अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया

हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन को अमेरिका ने सोमवार को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया।

 Arun Mishra |  2017-06-27 02:39:47.0  |  New Delhi

अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाउद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित किया

वॉशिंगटन : हिजबुल मुजाहिदीन के सरगना सैयद सलाहुद्दीन को अमेरिका ने सोमवार को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की शिखर बैठक से ठीक पहले उठाया गया यह कदम भारत की बड़ी रणनीतिक जीत मानी जा रही है।

हिजबुल आतंकी सैयद सलाहुद्दीन का असली नाम मोहम्मद यूसुफ शाह है। अमेरिकी विदेश विभाग ने उसे एक्जीक्यूटिव आर्डर के तहत वैश्विक आतंकी घोषित किया है। यह कार्रवाई उसके खिलाफ होती है जिसकी आतंकी गतिविधियों से अर्थव्यवस्था, विदेश नीति, राष्ट्रीय सुरक्षा या अमेरिकीनागरिकों की सुरक्षा को खतरा है।
भारत ने सलाहुद्दीन को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का स्वागत किया है। भारत ने अमेरिकी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि यह बताता है कि दोनों देश आतंकवाद के खतरे को एक समान महसूस कर रहे हैं।
अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा कि उसने सैयद सलाउद्दीन के नाम से मशहूर मोहम्मद यूसुफ शाह को एसडीजीटी घोषित कर दिया है। बयान में कहा गया है कि सितंबर, 2016 में सलाउद्दीन ने कश्मीर मसले की किसी शांतिपूर्ण समाधान की कोशिश को बाधित करने का संकल्प लिया था, अधिक से अधिक कश्मीरी युवाओं को आत्मघाती हमलावर बनाने की चेतावनी दी थी और कश्मीर घाटी को भारतीय सुरक्षाबलों के लिए कब्रगाह में तब्दील करने का संकल्प भी लिया था।
हिज्बुल ने जम्मू और कश्मीर में अप्रैल, 2014 को हुए बम विस्फोट हमले सहित अनेक आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी ली।' जम्मू एवं कश्मीर में अप्रैल, 2014 को हुए बम विस्फोट में 17 लोगों की मौत हो गई थी। बयान में कहा गया है कि अमेरिकी जनता और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए सोमवार को जारी की गई अधिसूचना में यह घोषित किया जाता है कि सैयद सलाउद्दीन ने आतंकवादी वारदातों को या तो अंजाम दिया है या इसका खतरा पैदा किया है।
अमेरिका के इस कदम के तहत कोई भी अमेरिकी नागरिक सलाहुद्दीन के साथ कोई वित्तीय लेनदेन नहीं कर सकेगा। साथ ही हिजबुल आतंकी की अमेरिकी न्यायक्षेत्र के तहत आने वाली सभी संपत्तियों को जब्त किया जा सकेगा।
जवानों की कब्रगाह बनाने की धमकी दी थी
सलाहुद्दीन ने धमकी दी थी कि वह कश्मीरी युवकों को आत्मघाती हमलावर बनाकर घाटी को भारतीय सुरक्षा बलों की कब्रगाह बना देगा।

Tags:    
Share it
Top