Home > अंतर्राष्ट्रीय > ट्रंप ने मतों की दोबारा गिनती के कदम को बताया 'घोटाला'

ट्रंप ने मतों की दोबारा गिनती के कदम को बताया 'घोटाला'

 Special Coverage News |  2016-11-27 13:34:51.0  |  New Delhi

ट्रंप ने मतों की दोबारा गिनती के कदम को बताया घोटाला

वाशिंगटन: अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ग्रीन पार्टी की ओर से विस्कान्सिन में मतों की दोबारा गिनती की मांग को 'घोटाला' करार देते हुए कहा कि चुनाव के नतीजों को चुनौती देने की बजाय इसका सम्मान किया जाना चाहिए।

ग्रीन पार्टी के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार जिल स्टाइन ने मतों की दोबारा गिनती का दबाव बनाया था। वह मिशिगन और पेनसिलवेनिया में भी मतों की दोबारा गिनती की मांग कर रही हैं।

आपको बता दें की अमेरिका में आठ नवंबर को हुये राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप ने पेनसिलवेनिया और विस्कान्सिन में अप्रत्याशित रूप से बहुत कम मतों के अंतर से हिलेरी क्लिंटन पर जीत दर्ज की थी। मिशिगन में भी उनकी जीत का अंतर बहुत कम था।

न्यूयार्क आधारित अरबपति ट्रंप अपनी जीत से पहले लगातार चुनाव में 'धांधली' का आरोप लगा रहे थे। अब उन्होंने एक बयान में जोर देकर कहा कि चुनौती और भला-बुरा के बजाय चुनाव परिणाम का 'सम्मान' किया जाना चाहिये। निर्वाचित राष्ट्रपति ने आरोप लगाया कि यह स्टाइन ने मतदान की दोबारा गिनती कराने के बहाने अपने खजाने को भरने के लिए 70 लाख डालर की तुलना में 59 लाख डालर जुटाये हैं।

ट्रंप ने ग्रीन पार्टी की प्रत्याशी की ओर से दोबारा मतदान की याचिका डालने के एक दिन बाद कहा, ''लोगों ने अपना फैसला सुना दिया है और अब चुनाव खत्म हो गये हैं। हिलेरी क्लिंटन ने खुद ही चुनाव वाली रात यह बात स्वीकार की थी।'' ग्रीन पार्टी की ओर से मतों की दोबारा गिनती की याचिका राज्य के चुनाव आयोग ने स्वीकार कर ली है। हिलेरी क्लिंटन के अभियान दल ने कल सुबह कहा था कि वह ग्रीन पार्टी की ओर से मतों की दोबारा गिनती में शामिल होंगे। इसके अलावा उन्होंने मिशिगन और पेनसिलवेनिया में भी मतों की दोबारा गिनती का समर्थन करेंगे।

ट्रंप ने इस चुनाव में सहज जीत हासिल कर ली, लेकिन मतगणना से संकेत मिला कि हिलेरी ने 20 लाख से अधिक पापुलर वोट के जरिए बढ़त हासिल की थी। ग्रीन पार्टी ने ट्रंप के इस आरोप को खारिज कर दिया है कि वह फिर से मतगणना के लिए एकत्र धन खर्च नहीं करेगी। स्टाइन ने कहा, ''उनकी जानकारी के लिए बता दूं कि यह धन विशेष खाते में जाने वाला है ताकि हम पुनर्मतगणना पर खर्च कर सकें।''

Share it
Top