Home > राष्ट्रीय > #MannKiBaat : पीएम मोदी ने बताए कैशलेस पेमेंट के फायदे, कहा - पॉलिटिकल फंडिंग पर संसद में हो चर्चा - नोटबंदी पूर्ण विराम नहीं

#MannKiBaat : पीएम मोदी ने बताए कैशलेस पेमेंट के फायदे, कहा - पॉलिटिकल फंडिंग पर संसद में हो चर्चा - नोटबंदी पूर्ण विराम नहीं

 Arun Mishra |  2016-12-25 06:22:55.0  |  नई दिल्ली

#MannKiBaat : पीएम मोदी ने बताए कैशलेस पेमेंट के फायदे, कहा - पॉलिटिकल फंडिंग पर संसद में हो चर्चा - नोटबंदी पूर्ण विराम नहीं

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज 27वीं बार 'मन की बात' कार्यक्रम में संबोधित किया। पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन पर पीएम मोदी ने कहा, अटल जी के जन्मदिन पर मैं उन्हें प्रणाम करता हूं। यह देश उनके योगदान को कभी नहीं भुला सकता। उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति में देश का सिर ऊपर किया।

'मन की बात' में PM मोदी ने देशवासियों को 'क्रिसमस' की बधाई दी। उन्होंने कहा कि आज का दिन त्याग और करुणा का प्रतीक है। महामना मदन मोहन मालवीय ने भारतीय लोगों में संकल्प और आत्मविश्वास जगाया।

उन्होंने कहा आज चारों ओर कैशलेस पेमेंट और खरीददारी को लेकर लोगों के मन में उत्सुकता है। क्रिसमस के दिन देशवासियों को दो योजनाओं का लाभ मिलने जा रहा है। आज से कैशलेस खरीददारी पर ईनाम की योजना शुरू होगी। 15000 लोगों को 100 दिनों तक रोज 1000 रुपये का ईनाम मिलेगा। कैशलेस खरीददारी करने वाले ग्राहकों के लिए 14 अप्रैल को डॉक्टर बाबा साहेब आंबेडकर की जयंती पर एक बंपर ड्रा होगा। जिसमें करोड़ों के ईनाम मिलेंगे।

कैशलेस माध्यमों से ग्राहकों को सामान देने वाले दुकानदारों को भी ईनाम मिलेगा। योजना ग़रीब, निम्न मध्यम-वर्ग को केंद्र में रख कर बनाई गई, 50 रुपये से ऊपर व 3 हज़ार से कम की ख़रीदी करने वाले को ही लाभ मिलेगा। 3000 से ज्यादा की खरीददारी वालों को ईनाम नहीं मिलेगा। जीएनएफसी ने किसानों की सुविधा के लिए 1000 PoS मशीन लगाए हैं। हमारी अर्थव्यवस्था में इनफॉर्मल पैसा बहुत ज्यादा है। पहले उनका शोषण होता था अब उन्हें पूरा पैसा मिल रहा है। लोगों को ई-पेमेंट की आदत लगे इसलिए भारत सरकार ग्राहकों व छोटे व्यापारियों के लिए आज से 'प्रोत्साहक योजना' शुरू कर रही है।

पीएम ने कहा कि व्यापारियों को डिजिटल लेन-देन करने और अपने कारोबार में ऑनलाइन पेमेंट की पद्धति विकसित करने पर टैक्स में छूट मिलेगी। पीएम ने कहा कि जनता ने परेशानी सहकर भी सरकार का साथ नहीं छोड़ा। जितनी पीड़ा आपको होती है, उतनी ही पीड़ा मुझे भी होती है। सरकार जनका जनार्दन के लिए है। जनता की सुविधा के लिए बड़े फैसले लेने पड़ते हैं।

पीएम ने कहा कि मैं चाहता था सदन में भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ लड़ाई पर, राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे पर व्यापक चर्चा हो। कानून सबके लिए बराबर है। किसी को भी छूट नहीं मिलनी चाहिए।

पीएम ने बताया कि बार-बार नियम बदलने के मामले में सरकार जनता से फीडबैक लेती है और जो नियम बदलते हैं वह उन्हीं के आधार पर बदलते हैं। पीएम के अनुसार, छापेमारी में पकड़े गए लोगों पर हुई कार्रवाई का रहस्य देश के जागरूक नागरिकों द्वारा दी जा रही जानकारी है। पीएम ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की तो अभी शुरुआत है। ये पूर्णविराम नहीं है।

पीएम मोदी ने देश की जनता को नए साल की शुभकामनाएं भी दीं। पीएम मोदी ने कहा देश की भलाई के लिए जो भी सही है वह हमारी प्राथमिकता है। पीएम ने कहा संसद का सत्र न चलने से देशवासियों में रोष है लेकिन इस बीच एक उत्तम काम भी हुआ जिस पर किसी का ध्यान नहीं दिया। इस बीच दिव्यांगों से जुड़ा एक बिल संसद में पारित हुआ।

पीएम ने कहा सरकार ने संयुक्त राष्ट्र की भावना के अनुरूप नया कानून पास किया। पहले दिव्यांगों की सात श्रेणियां शामिल थीं अब इन्हें बढ़ाकर 21 कर दिया गया है। इस कानून के बाद दिव्यांगों के पास नौकरी के ज्यादा अवसर होंगे। सरकारी नौकरी में उनके लिए आरक्षण की सीमा बढ़ाकर 4 फीसदी कर दी है।

पीएम ने कहा इंग्लंड के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम की 4-0 से जीत सराहनीय है। इस जीत ने हमें गौरवान्वित महसूस कराया है। 15 साल बाद हॉकी में हमारी टीम ने हॉकी का जूनियर वर्ल्ड कप जीता, जिस पर हमें गर्व है।

इससे पहले 26 नवंबर को मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा था कि, 'नोटबंदी का निर्णय सामान्य नहीं है, कठिनाइयों से भरा हुआ है। लेकिन 50 दिन बाद हालात सामान्य हो जाएंगे। देशवासी भ्रष्टाचार और कालेधन की इस लड़ाई में मेरी मदद करें।'

Tags:    
Share it
Top