Home > राष्ट्रीय > 7वां वेतन आयोग: 50 लाख कर्मचारियों को मिल सकती है खुशखबरी, PM मोदी आज करेंगे कैबिनेट की बैठक

7वां वेतन आयोग: 50 लाख कर्मचारियों को मिल सकती है खुशखबरी, PM मोदी आज करेंगे कैबिनेट की बैठक

50 lakh employees can get good news

 Ekta singh |  2017-06-14 05:27:18.0  |  नई दिल्ली

7वां वेतन आयोग: 50 लाख कर्मचारियों को मिल सकती है खुशखबरी, PM मोदी आज करेंगे कैबिनेट की बैठक

नई दिल्ली: बुधवार को 7वें वेतन आयोग को लेकर केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में होने वाली इस बैठक में केंद्र सरकार के कर्मियों के भत्ते पर लंबे समय से चला आ रहा सस्पेंस खत्म हो सकता है। बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली भत्ते को लेकर अपना प्रस्ताव रख सकते हैं, जिसका सीधा फायदा 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा।

कहा जा रहा है कि हाल ही में 7 जून को हुई कैबिनेट में इस मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई थी। 7वें केंद्रीय वेतन आयोग ने भत्ते की संरचना में कुछ बदलाव सुझाए थे। इसमें 52 तरह के भत्तों को खत्म कर दिया गया है। 36 तरह के अन्य भत्तों को इसमें जोड़ा भी गया है।

1. केन्द्र सरकार के फॉर्मूले के मुताबिक महंगाई भत्ते पर 2 फीसदी की वृद्धि दी जाएगी जिसे 1 जनवरी 2017 से लागू किया जाएगा।

2. कर्मचारी यूनियनों का मानना है कि महंगाई भत्ता निर्धारित करने के लिए इंडस्ट्रियल वर्कर के लिए कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स को बेंचमार्क मानना हकीकत से अलग आंकड़े देते हैं।

3. यूनियन के मुताबिक सीपीआई एक काल्पनिक आंकड़ा है क्योंकि लेबर ब्यूरो का आंकड़ा हकीकत से दूर रहता है।

4. महंगाई भत्ता बढ़ाने के लिए औसत सीपीआई आंकड़ा 4.95 फीसदी रहना चाहिए जिसे जनवरी 1 से दिसंबर 31, 2017 बेंचमार्क मानना चाहिए।

5. केन्द्र सरकार अक्टूबर में मंहगाई भत्ते में 2 फीसदी का इजाफा कर चुकी है और उसे जुलाई 2016 से लागू किया था जिससे अब वह सिर्फ 2 फीसदी का इजाफा और करने जा रही है। केन्द्र सरकार पिछले 12 महीने का औसत खुदरा महंगाई का आंकड़ा लेकर महंगाई भत्ता निर्धारित करता है।

6. वेतन आयोग की सिफारिशों को मंजूरी देने के बाद केन्द्र सरकार ने घोषणा की थी कि सभी कर्मचारियों को जनवरी 1, 2016 से बढ़ी हुई सैलरी और भत्ता मिलेगा लेकिन नोटबंदी लागू होने के बाद केन्द्र सरकार इस मुद्दे पर आखिरी फैसला लेने से कतरा रही है।

7. नोटबंदी का फैसला लेने के बाद मोदी सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों के भत्ते पर वेतन आयोग की सिफारिशों को देखने के लिए एक कमेटी गठित कर दी। इस कमेटी को वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू करने का रास्ता तय करने के लिए भी कहा गया है।

8. सूत्रों के मुताबिक अशोक लवासा के नेतृत्व में बनी कमेटी अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप चुकी है। लेकिन केन्द्र सरकार कर्मचारियों को भत्ता देने में सक्षम नहीं है क्योंकि नोटबंदी से देश में कैश की किल्लत केन्द्र सरकार को भी परेशान कर रही है।

9. सातवें वेतन आयोग ने एचआरए में 138.71 फीसदी इजाफा किया है और अन्य भत्ते में 49.79 फीसदी की इजाफा करने का प्रस्ताव दिया है। पिछले कुछ महीनों के दौरान केन्द्र सरकार के कर्मचारियों की यूनियन वित्त मंत्रालय पर जल्द से जल्द भुगतान करने के लिए दबाव बना रही है। कर्मचारी यूनियन अपनी मांग को लेकर स्ट्राइक पर जाने की बात कर रही है।

10. चुनाव आयोग के निर्देश और 5 राज्यों में चुनाव प्रक्रिया शुरू होने के बाद अब केन्द्र सरकार कर्मचारियों के भत्ते पर कोई फैसले नहीं ले सकती। लिहाजा उम्मीद की जा रही है कि अब केन्द्रीय कर्मचारियों को चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक इंतजार करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

Tags:    
Ekta singh

Ekta singh

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top