Home > राष्ट्रीय > लोकसभा के पूर्व स्पीकर रवि राय का अस्पताल में निधन

लोकसभा के पूर्व स्पीकर रवि राय का अस्पताल में निधन

 Vikas Kumar |  2017-03-06 13:48:03.0  |  लखनऊ

लोकसभा के पूर्व स्पीकर रवि राय का अस्पताल में निधन

लखनऊ : प्रख्यात समाजवादी और लोकसभा के पूर्व स्पीकर रवि राय का आज कटक के एससीबी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आयु संबंधित बीमारियों की वजह से निधन हो गया। वह 90 साल के थे। उन्हें कुछ दिन पहले अस्पताल में उम्र संबंधी बीमारियों की वजह से भर्ती कराया गया था। उनका पार्थिव शरीर भुवनेश्वर में लोगों के आखिरी दर्शन के लिए लोहिया भवन में रखा जाएगा।

राय के परिवार में उनकी पत्नी सरस्वती स्वेन हैं। उनकी कोई संतान नहीं है। रवि राय का जन्म ओडिशा के खुर्दा जिले के भानरागढ़ गांव में 26 नवंबर 1926 को हुआ था। रवि राय 1989-91 तक नौवीं लोकसभा के अध्यक्ष थे। वह राष्ट्रमंडल स्पीकर्स फोरम के भी अध्यक्ष थे। वह मोरारजी देसाई की सरकार में जनवरी 1979 से जनवरी 1980 के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री थे।

उनके निधन पर वरिष्ठ समाजवादी नेता शिवपाल सिंह यादव ने समाजवादी चिंतक एवं प्रख्यात लोहियावादी नेता रवि राय के देहान्त पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि उनका निधन समाजवादी विचारधारा एवं आन्दोलन की अपूर्णीय क्षति है। रवि राय ने अपनी कलम और कर्म से समाजवाद को नया क्षितिज दिया। वे संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी, जनता दल एवं जनता पार्टी के नेता रहे। कई बार सांसद, केन्द्रीय मंत्री एवं लोकसभा अध्यक्ष जैसे बड़े पदों पर रहने के बावजूद सत्ता की विकृतियों से कोसों दूर रहे। नई पीढ़ी को रवि राय के जीवन दर्शन से सादगी, सैद्धांतिक प्रतिबद्धता एवं सतत् संघर्ष की प्रेरणा मिलती है।

शिवपाल यादव ने रवि राय के संस्मरण सुनाते हुए कहा "मुझे उनके साथ काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। इटावा में उनकी सभा कराने का अवसर मिला है, उनके साथ पदयात्रा करते समय मुझे जो समाजवाद व संघर्ष की सीख मिली उसे मैं शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। बहुत कम लोग जानते हैं कि समाजवादी आन्दोलन के अगुआ के साथ-साथ श्री राय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भी थे। उन्होंने लोहिया से प्रभावित होकर विद्यार्थी जीवन में ही भारतीय स्वतंत्रता संग्राम से अपने को जोड़ लिया। रेवेन्शा कालेज में तिरंगा फहराने के कारण ब्रिटानिया हुकूमत ने उन्हें गिरफ्तार किया। वे जितने बड़े चिंतक व ज्ञानी थे उतने ही महान कर्मयोगी भी थे।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने राय के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें प्रख्यात समाजवादी नेता बताया। वहीँ राय के निधन पर पीएम मोदी ने भी दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ट्विट कर शोक संदेश दिया है।



Tags:    
Vikas Kumar

Vikas Kumar

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top