Home > राष्ट्रीय > PM मोदी 'मन की बात' में छात्रों से बोले, 'स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर'

PM मोदी 'मन की बात' में छात्रों से बोले, 'स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर'

 Vikas Kumar |  2017-01-29 06:45:00.0  |  New Delhi

PM मोदी मन की बात में छात्रों से बोले, स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इस वर्ष में पहली बार रोडियो पर 'मन की बात' कार्यक्रम में देश की जनता को संबोधित किए। पीएम मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम को चुनाव आयोग ने प्रसारण की इजाजत दे दी थी। पीएम मोदी ने अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में देश के वीर जवानों को सलाम किया। इसके अलावा उन्होंने 30 जनवरी के दिन महात्मा गांधी के पुण्यतिथि के मौके पर देशवासियों से बापू के सम्मान में दो मिनट का मौन रखने की भी अपील की।

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में एग्जाम देने वाले छात्रों को 'स्‍माइल मोर, स्‍कोर मोर' का मंत्र दिया। उन्होंने परीक्षा में जाने वाले छात्राओं को ढेरों शुभकामनाएं दी। प्रधानमंत्री मोदी का छात्रों को सन्देश, परीक्षा को उत्सव की तरह मनाएं। उन्होंने कहा पी फॉर प्रिपेयर, पी फॉर प्ले। जो खेले वो खिले। वन हू प्लेज, शाइन्स। तनाव में हो तों गहरी सांस लीजिए, बहुत आराम मिलेगा। परीक्षा के दौरान 3 चीजें बहुत जरूरी हैं-आराम, नींद और फिजिकल ऐक्टिविटी। सर्वांगीण विकास करना है तो किताबों के बाहर भी एक बहुत बड़ी जिंदगी है और उसे भी जीने का यही वक्त है। नकल करने के लिए हम जितना वक्त और क्रिएटिविटी लगाते हैं अगर उतना तैयारी में करें तो नतीजे बेहतर होंगे।

उन्होंने तटरक्षक बल के जवानों को एक फरवरी को होने वाले स्थापना दिवस पर बधाई दी। 1 फरवरी को इंडियन कोस्टगार्ड का 40वां साल है। प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम से सीख लेने की सलाह दी, कहा अपने लक्ष्य की ओर निरंतर बढ़ते रहें। उन्होंने कहा 1 फरवरी को वसंत पंचमी है। इस दिन हम सरस्वती की पूजा करते हैं। यह वीरों के लिए भी प्रेरणा का दिन है।

PM मोदी ने छात्रों को नकल न करने की भी सलाह दी। कहा, नकल करना आपको विफलता के रास्ते पर घसीट ले जाएगा। उन्होंने कहा हम बच्चों के स्कूल बैग के भार की बात करते हैं लेकिन कभी-कभी अभिभावकों की अपेक्षाएं इससे भी ज्यादा भारी हो जाती हैं। PM मोदी ने अभिभावकों से 3 चीजों पर ध्यान देने को कहा- स्वीकार करिए, सिखाइए और समय दीजिए। परीक्षाओं में अभिभावकों खासकर मांओं की भूमिका बेहद अहम होती है।

Tags:    
Share it
Top