Home > राजनीति > शीला दीक्षित बोलीं, 'राहुल गांधी अभी भी मेच्योर नहीं'

शीला दीक्षित बोलीं, 'राहुल गांधी अभी भी मेच्योर नहीं'

 Arun Mishra |  2017-02-24 06:17:27.0  |  नई दिल्ली

शीला दीक्षित बोलीं, श�?ला द�?�?्षित �?र राहुल �?ा�?ध�? (फा�?ल फ�?�?�?)

नई दिल्ली : दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की सीनियर नेता शीला दीक्षित ने कहा है कि राहुल गांधी अभी मैच्योर यानी परिपक्व नहीं हुए हैं उन्हें अभी और वक्त दिया जाना चाहिए।

दरअसल, टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू मवनजब शीला दीक्षित से पूछा गया था कि कांग्रेस का ग्राफ कई राज्यों में गिर रहा है। यह ऐसे वक्त में हो रहा है जब राहुल आक्रमक रूप से रैलियां कर रहे हैं। ऐसे में क्या गलत हो रहा है? इसपर शीला दीक्षित ने कहा, आप लोग देख रहे हैं कि राजनीति बदल रही है। अब यह वैसी नहीं रही जैसी कुछ सालों पहले हुआ करती थी। राजनीति की भाषा भी बदल गई है। उदाहरण के लिए पीएम मोदी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के लिए जिस तरीके की भाषा का इस्तेमाल किया वैसा पहले कोई सोच भी नहीं सकता था। ऐसे बदलते वक्त में कांग्रेस अपने आपको ढाल रही है। और कृपया यहां ध्यान रखें कि
'राहुल अभी भी मेच्योर नहीं हैं। मेच्योर होने वाली उनकी उम्र भी नहीं है। वह अभी चालीस साल के ही तो हैं। कृपया उन्हें वक्त दें। राहुल अकेले ऐसे नेता हैं जो किसानों की बात करते हैं।'


राहुल गांधी को और कितना वक्त चाहिए ? इस सावल के जवाब में शीला दीक्षित ने कहा, "उन्होंने काफी कुछ सीखा है। वे अभी तक प्रधानमंत्री इसलिए नहीं बने क्योंकि अभी ऐसा मौका आना बाकी है लेकिन वो मेहनत कर रहे हैं। वो लोगों से मिल रहे हैं और उन्हें पता है कि किसी से अपनी बात कैसे कहनी चाहिए। मुझे लगता है वो जो भी करते हैं वो स्वाभाविक है लेकिन अगर किसी को ऐसा नहीं लगता तो आने वक्त में उन्हें भी ऐसा लगेगा।"

आप गठबंधन के लिए प्रचार नहीं कर रही है? इस सावल पर शीला दीक्षित ने कहा, "यह कहना गलत होगा कि मैं प्रचार नहीं कर रही। मैं जब से वापस आयी हूं पार्टी ने मुझे जो काम दिया मैंने किया है। मुझे कानपुर और बनारस जाना था लेकिन मेरी तबीयत खराब होने के चलते नहीं जा पायी. अभी मैं ठीक हूं और जल्द ही बनारस जाऊंगी।"

ज्ञात हो कि शीला दीक्षित को पहले कांग्रेस ने यूपी में अपना सीएम कैंडिडेट बनाया था। लेकिन फिर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन हो गया। सपा से गठबंधन होने के बाद शीला ने अपनी मर्जी से दावेदारी वापस ले ली। उन्होंने कहा था कि वह अखिलेश को सीएम बनते देखकर खुश होंगी।

Tags:    
Share it
Top