Home > धर्म-कर्म > हनुमान जयंती पर करें हनुमान जी को प्रसन्न, कट जायेंगे सभी कष्ट

हनुमान जयंती पर करें हनुमान जी को प्रसन्न, कट जायेंगे सभी कष्ट

 शिव कुमार मिश्र |  2017-04-11 03:32:20.0  |  दिल्ली

हनुमान जयंती पर करें हनुमान जी को प्रसन्न, कट जायेंगे सभी कष्ट

शास्त्रों के अनुसार हनुमान जयंती हर वर्ष दो बार मनाई जाती है, पहली चैत्र मास की शुक्ल पूर्णिमा के दिन और दूसरी कार्तिक मास की कृष्ण चतुर्दशी के दिन। वाल्मीकि रामायण के अनुसार, हनुमान जी का जन्म कर्तिक मास की कृष्ण चतुर्दशी के दिन हुआ था।


वहीं पुराणों के अनुसार भगवान शिव जी ने माता अंजना के गर्भ से रुद्रावतार हनुमान के रूप में जन्म लिया था। हनुमान जी को चमत्कारिक सफलता देने वाला देवता माना जाता है। साथ ही इन्हें ऐसा देवता भी माना जाता है जो अति शीघ्र प्रसन्न हो जाते है। आज हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे काम जिनको हनुमान जयंती के दिन करके आपको चमत्कारिक लाभ हो सकता है. 


हनुमान जयंती के दिन सुन्दरकांड, हनुमान चालीसा, हनुमानाष्टक और बजरंग बाण का पाठ करना चाहिए। क्योंकि इस शुभ दिन पर हनुमान जी की पूजा करने से सभी पापों से मुक्ति मिलने के साथ-साथ घर में सुख-शांति भी आती है।  हनुमान जयंती के दिन रामायण और राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करने से आपको मानसिक और शारीरिक शक्ति मिलती है। इसदिन हनुमान जी की पूजा करें और उन्हें सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं। ऐसा करने से आपके जीवन में और आपके परिवार में शुभता आएगी।


 दुर्घटनाओं से बचने के लिए यदि स्वास्थ्य अनुमति दे तो हनुमान जयंती के दिन रक्तदान करना चाहिए। यदि आपके व्यापार में दिन-प्रतिदिन गिरावट हो रही है तो आप अपने व्यापार में वृद्धि के लिए हनुमान जयंती के दिन सिंदूरी रंग के लंगोट को हनुमान जी को पहनाएं। इससे आपके व्यापार में भारी वृद्धि होगी। 


आप हनुमान जयंती के दिन किसी हनुमान मंदिर की छत पर लाल झंडा लगाने से आपको खुद पर आने वाले आकस्मिक संकटों से मुक्ति मिलती है। हनुमान जयंती के दिन अगर आप किसी मानसिक रोगी की सेवा करते हो तो इससे हनुमान जी बहुत प्रसन्न होते हैं और आपके साथ हमेशा रहते है। साथ ही ऐसा करने से हनुमान जी आपसे आपकी सारी चिंताओं को दूर कर देते है और आपकी मानसिक स्थिति को भी अच्छा करते है।

Tags:    
Share it
Top