Home > विज्ञान > ध्यान से देखिए: जहां होती है हीरों की खदान, वही उगता है यह पौधा!

ध्यान से देखिए: जहां होती है हीरों की खदान, वही उगता है यह पौधा!

 Special Coverage News |  2016-07-18 07:57:21.0  |  नई दिल्ली

ध्यान से देखिए: जहां होती है हीरों की खदान, वही उगता है यह पौधा!

नई दिल्ली: केवड़े के नाम से पहचाने जाने वाले पौधे के बारे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। वैज्ञानिकों के मुताबिक जहां यह पौधा उगता है वहां पर हीरों की खदान होती है। अफ्रीका में बहुतायत में पाए जाने वाले इस पौधे को पांडानसकेंडेलाबर्म कहा जाता है। यह पौधा किंबलेट नामक खनिज वाली मिट्टी में ही उगता है ऐसी चट्टाने हीरों से भरी होती है।

पांडानस केंडेलाबर्म नाम का यह पौधा विशेषतौर पर अफ्रीका के लाइबेरिया समेत कई देशों में पाया जाता है। इस पौधों के इन गुणों की पहचान पहली बार फलोरिडा में रहने वाले डॉ. स्टेफन हग्गेट्री ने थी। उनके मुताबिक यह पौधा हीरा खोजने वालों के लिए एक शानदार सूचक हो सकता है।

वैज्ञानिकों के मुताबिक हीरे की चट्टाने धरती के गर्भ में 100 मील नीचे ताप और दाब के कारण बनती है। ये चट्टाने टूटकर धरती की सतह से थोड़ी नीचे तरफ किंबरलेट पाइपों के जरिए पहुंचती है। अफ्रीका किंबलेट चट्टानों में हीरे पाए जाते हैं। केवड़े जैसा यह पौधा किंबरलेट पाइप के पास ही उगता है ये वो पाइप होते हें जो ज्वालामुखी के लावे को धरती की सतह तक पहुंचाते हैं।

इसके पीछे का कारण इस पौधें को मिलने वाले पौषक तत्व और खनिज-लवण है जो किंबरलेट पाइप से आने वाली मिट्टी में मौजूद होते हैं। यह पौधा मेग्नेशियम, पोटेशियम और फास्फोरस जैसे तत्वों बहुतायत में ग्रहण करता है और ये सब तत्व किंबरलेट पाइप वाली मिट्टी में बहुतायत में पाए जाते हैं।

Tags:    
Share it
Top