Home > राज्य > कानपुर से वाराणसी 570 Km गंगा में तैरते हुए जाएगी 11 साल की ये 'नन्हीं जलपरी'

कानपुर से वाराणसी 570 Km गंगा में तैरते हुए जाएगी 11 साल की ये 'नन्हीं जलपरी'

 Special Coverage News |  2016-08-29 06:59:06.0  |  Kanpur

कानपुर से वाराणसी 570 Km गंगा में तैरते हुए जाएगी 11 साल की ये नन्हीं जलपरी

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले की 11 साल की श्रद्धा शुक्ला एक बार फिर गंगा की उफनाती लहरों के बीच तैरकर कानपुर से वाराणसी तक का सफर तय करने जा रही है। अपने बुलंद इरादे और गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज कराने के लिए रविवार को श्रद्धा कानपुर के मैस्करघाट से गंगा में उतरी। वह 10 दिनों में कानपुर से वाराणसी की 570 किलोमीटर की गंगा यात्रा पूरी करेगी।

कानपुर की श्रद्धा शुक्ला क्लीन गंगा का संदेश लेकर 570 किलोमीटर तक तैरेंगी।
नन्हीं जलपरी
के नाम से प्रसिद्ध श्रद्धा कानपुर से वाराणसी तक का सफर 70 घंटों में पूरा करेंगी। कानपुर से वाराणसी तक गंगा की दूरी तकरीबन साढ़े पांच सौ किलोमीटर है। इतने लंबे मिशन पर जाने के लिए वह रविवार को कानपुर में गंगा में उतर चुकी है। उसका सपना है कि वह ओलिंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करे और देश के लिए गोल्ड मेडल लेकर आए। श्रद्धा ने ओलिंपिक में जाने की ट्रेनिंग के लिए पीएम मोदी से मदद की गुजारिश की है।

इस वक्त भारी बारिश के कारण गंगा का जलस्तर काफी बढ़ा हुआ है। इस लिहाज से श्रद्धा का गंगा में तैरकर इतनी लंबी दूरी तय करना खतरे से खाली नहीं है। इस मिशन में श्रद्धा की सुरक्षा के लिए उसके साथ पिता ललित शुक्ला 6 गोताखोर, एक डॉक्टर और कुछ अन्य लोग श्रद्धा के साथ चलेंगे। वह 70 घंटे में यह दूरी तय करेगी। इस मिशन के दौरान वह छह जगहों पर रुकेगी।

श्रद्धा को बचपन से ही तैरने का शौक है। श्रद्धा ने तैराकी में कई रिकार्ड बनाए, लेकिन अब वह चाहती है कि उसका नाम
गिनीज बुक अॉफ वर्ल्ड रिकार्ड
में दर्ज हो। कुछ दिन पहले ही श्रद्धा वाराणसी जाने के लिए पानी में उतरी थीं लेकिन खतरनाक मगरमच्छ की वजह से वह वापस निकल आई थी। श्रद्धा के पिता और दादा दोनों गोताखोर रहे हैं। वह अपने पिता को अपना आदर्श मानती हैं।

आपको बता दें कि श्रद्धा चार साल की उम्र से तैराकी कर रही हैं। इससे पहले साल 2014 में श्रद्धा शुक्ला ने सावन के महीने में खतरे के निशान को छू रही गंगा नदी में सरसैया घाट से सिधनाथ घाट तक की 16 किलोमीटर की दूरी को 72 मिनट में तय किया था। इसके बाद श्रद्धा ने कानपुर से इलाहाबाद तक की 280 किलोमीटर की दूरी को तैर कर पार किया था।

Tags:    
Share it
Top