Home > राज्य > AAP सरकार ने 48,000 करोड़ रुपए का बजट किया पेश, जाने किसको क्या मिला

AAP सरकार ने 48,000 करोड़ रुपए का बजट किया पेश, जाने किसको क्या मिला

 Ekta singh |  2017-03-08 10:41:50.0  |  नई दिल्ली

AAP सरकार ने 48,000 करोड़ रुपए का बजट किया पेश, जाने किसको क्या मिला

नई दिल्ली : दिल्ली के डिप्टी ‌सीएम और वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने विधानसभा में 2017-18 के बजट का ऐलान करते हुए बताया कि इस साल किसी नए कर का प्रस्ताव नहीं और ना ही कोई कर नहीं बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि GST के कारण कर में तेजी आएगी, इसलिए कोई नया कर नहीं लगाया गया है। वित्त वर्ष 2017-18 के लिए 48,000 करोड़ रुपये का बजट अनुमान। राज्य सरकार को 38,700 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त होगा। नगर निगमों को कुल बजट का 15.8% से ज्यादा उनको आवंटित किया गया, उनसे कोई ऋण और ब्याज नहीं लिया गया। दिल्ली में दो नए DIIT स्थापित किए जाएंगे, ताकि शिक्षा की क्वॉलिटी में सुधार हो। कुल 8,000 स्कूलों के कमरे बनकर तैयार हैं। 156 सरकारी स्कूलों में नर्सरी की क्लास शुरू की जाएंगी। 10 अर्ली चाइल्डहुड लर्निंग सेंटर खोले जाएंगे। सरकारी स्कूलों में नर्सरी से लेकर 10वीं कक्षा के लिए लाइब्रेरी का निर्माण होगा। लाइब्रेरी के लिए 100 करोड़ रुपये की राशि रखी गई है।

5 नए स्कूल ऑफ एक्सिलेंस खोले जाएंगे और इनमें केवल अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाई होगी। स्कूल यूनिफार्म पर सब्सिडी देगी दिल्ली सरकार। मिड-डे मील में केला और उबला अंडा जोड़ा जाएगा। स्कूलों में कंप्यूटर लैब के लिए 282 करोड़ रुपये दिए जाएंगे। सभी स्कूलों में पंजाबी और उर्दू क्लब खोले जाएंगे। हर स्कूल में डांस टीचर नियुक्त किये जाएंगे। इसी वित्त वर्ष के अंत तक 150 से अधिक मोहल्ला क्लीनिक स्थापित हो जाएंगे। अगले साल तक मोहल्ला क्लीनिकों की संख्या कुल 1,000 हो जाएगी। दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में अगले साल तक 10,000 बेड बढ़ाए जाएंगे। इसके अलावा 7 नए अस्पताल भी बन रहे हैं। सड़क हादसे में घायल लोगों को अस्पताल पहुंचान वाले को 2,000 रुपये का नकद इनाम मिलेगा। निजी अस्पतालों से टाईअप करके सरकारी अस्पतालों के रोगियों को निजी अस्पताल में रेफर किया जा सकेगा।

DTC बसों में इलेक्ट्रॉनिक टिकट मशीनें लगाई जाएंगी। दिल्ली में 10,000 नए ऑटो परमिट जारी किए जाएंगे। दिल्ली मेट्रो के 582 नए कोच लगाए जाएंगे। दिल्ली मेट्रो को 1156 करोड़ दिए जाएंगे।आश्रम चौक पर अंडर पास बनेगा। आईटीओ पर स्काई वाक का निर्माण होगा। महिपालपुर और एयरपोर्ट रोड के बीच फ्लाईओवर बनेगा। बापरौला और द्वारका में झुग्गी वालों के लिए फ्लैट। इस साल 5,000 लोगों को झुग्गी से विस्थापित कर घरों में शिफ्ट किया गया। दिल्ली को खुले में शौच से मुक्त करने के लिए 8,000 नए टॉइलट तैयार किए गए। अगले साल 5,000 और नए टॉइलट बनाए जाएंगे। सौर ऊर्जा के लिए अगले 5 साल में 1000 मेगा वाट का लक्ष्य रखा गया है। वहीं कचरे से बिजली बनाने के लिए दिल्ली में 3 नए बिजलीघर स्थापित किए जाएंगे। बैटरी से चलने वाले वाहनों को दिल्ली सरकार की तरफ से सब्सिडी दी जाएगी।


Tags:    
Share it
Top