Home > राज्य > बाबरी मस्जिद के मुद्दई हाशिम अंसारी की मौत

बाबरी मस्जिद के मुद्दई हाशिम अंसारी की मौत

 Special Coverage News |  2016-07-20 05:57:46.0  |  अयोध्या

बाबरी मस्जिद के मुद्दई हाशिम अंसारी की मौत

अयोध्या: बाबरी मस्जिद एक्‍शन कमेटी के मुख्‍य पैरोकार रहे हाशिम अंसारी का आज सुबह 5.30 बजे नि‍धन हो गया। वे 96 साल के थे वह लंबे समय से बीमार थे। अयोध्या राजघराने के विमलेंद्र मोहन मिश्र ने उनके घर पहुंचकर श्रद्धांजलि‍ दी। उनका अंतिम संस्कार आज शाम अयोध्या में होगा। उन्‍हें हिंदू-मुस्लिम दोनों समुदायों का चहेता बताया।

साल 1949 से ही उनका नाम बाबरी केस से जुड़ गया था। इसके समाधान के लि‍ए लगातार प्रयासरत रहने के कारण उन्‍हें अयोध्‍या का गांधी भी कहा जाता था। अंसारी कई सालों से बाबरी मस्जिद के मालिकाना हक़ का मुकदमा लड़ रहे थे। 1975 में जब देश में इमरजेंसी लगाई गई थी तब भी हाशिम अंसारी को गिरफ्तार किया गया था और करीब 8 महीने वह जेल में रहे।

वे चाहते थे कि सरकारी क़ब्ज़े वाली 67 एकड़ जमीन पर मंदिर और मस्जिद दोनों बन जाएं और उनके बीच एक 100 फ़ीट ऊंची दीवार बना दी जाए। हनुमानगढ़ी के महंत और अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ज्ञान दास के साथ मिलकर उन्‍होंने सुलह-समझौते की पहल भी शुरू की थी।

एक इंटरव्यू में उन्होंने बाबरी मस्जिद गिराने के मामले को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि कांग्रेस के दिवंगत नेता और तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने अयोध्या में विवादित स्थल पर मौजूद मस्जिद तुड़वाई थी।

हाशिम अंसारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खास मुरीद थे। मुस्लिम समुदाय से भी नरेंद्र मोदी को समर्थन करने की वे अपील करते रहे।

Tags:    
Share it
Top