Home > राज्य > उत्तराखंड: पिथौरागढ़ और चमोली में बादल फटने से 18 की मौत

उत्तराखंड: पिथौरागढ़ और चमोली में बादल फटने से 18 की मौत

 Special Coverage news |  2016-07-01 07:45:33.0  |  चमोली

उत्तराखंड: पिथौरागढ़ और चमोली में बादल फटने से 18 की मौत

चमोली: उत्‍तराखंड में मानसून के आते ही जनजीवन अस्‍त-व्‍यस्‍त हो गया। चमोली में बादल फटने से नौ लोगों की मौत हो गई, जबकि छह लोग लापता हैं वहीं अलकनंदा का जलस्‍तर खतरे के निशान से ऊपर चला गया है। अलग अलग जगह बादल फटने से अब तक लगभग 17 लोगों की मौत हो गई है। इसके अलावा पिथौरागढ़ में भी कई जगह बादल फटे हैं, सरयू और गोमती का जलस्तर काफी बढ़ गया हैं।

भारी बारिश की वजह से ऋषिकेश-बद्रीनाथ मार्ग पर तोता घाटी के समीप राजमार्ग पर चट्टान आ गिरी, जिससे हाईवे बंद हो गया। नौलाड़ा क्षेत्र के चिफलवाकुमल्गोनि में एक मकान मलबे में दब गया। इससे एक ही एक ही परिवार के तीनों सदस्य दब गए। सूचना पर राहत बचाव कार्य शुरू किया गया।

टोपराधार दाफिला में दो मकान ध्वस्त होने से तीन जानवर मलबे में दबकर मर गए। जौलजीबी से बरम के बीच खन्पैरा के पास नाले के उफान में आने से 2 पुल बह गये है।

मौसम विभाग ने देहरादून सहित आठ जिलों शुक्रवार से आगामी 72 घंटे भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। बाकी जिलों में भी हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना जताई है। एक जुलाई से अगले 72 घंटों के लिए अलर्ट जारी किया गया है। लोगों से सुरक्षित जगहों पर रहने की अपील की गई है।

कई जगहों पर भारी बारिश होने से तापमान में तीन से पांच डिग्री तक की गिरावट आ सकती है।​चारधाम यात्रा मार्गों पर भी यात्रियों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने की सलाह दी गई है।

Tags:    
Share it
Top