Home > राज्य > गोवा > सिनेमा में महिलाओं से जुड़े अशोभनीय दृश्यों के कारण महिलाओं के खिलाफ बढ़ रही हिंसा : मेनका गांधी

सिनेमा में महिलाओं से जुड़े अशोभनीय दृश्यों के कारण महिलाओं के खिलाफ बढ़ रही हिंसा : मेनका गांधी

 Arun Mishra |  2017-04-08 06:34:43.0  |  New Delhi

सिनेमा में महिलाओं से जुड़े अशोभनीय दृश्यों के कारण महिलाओं के खिलाफ बढ़ रही हिंसा : मेनका गांधी

नई दिल्ली : केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रही हिंसा का जिम्मेदार बॉलिवुड और क्षेत्रीय सिनेमा को ठहराया है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बॉलिवुड और क्षेत्रीय सिनेमा में महिलाओं से जुड़े अशोभनीय दृश्यों के कारण देश में इस आधी आबादी के खिलाफ हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं।

मेनका ने शुक्रवार को गोवा फेस्ट 2017 में कहा, 'फिल्मों में रोमांस की शुरुआत छेड़छाड़ से होती है। एक व्यक्ति और उसके दोस्त महिला को घेर लेते हैं और आगे-पीछे चलते हैं, उसको नीचा दिखाते हैं, उसे अनुचित तरीके से छूते हैं और फिर बाद में वह महिला उसके प्यार में पड़ जाती है।' केंद्रीय मंत्री ने फिल्म और ऐडवर्टाइज़मेंट समुदाय से महिलाओं की बेहतर तस्वीर दिखाने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि पिछले 50 सालों से फीचर फिल्मों का इस्तेमाल संदेश देने के लिए किया जा रहा है। इस माध्यम में हिंसा रहती है। हर क्षेत्रीय और हिन्दी फिल्मों में ऐसा होता है। मेनका ने यह भी कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी का 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान बिहार और जम्मू-कश्मीर को छोड़ पूरे देश में सफल रहा है।

उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोगों के माइंडसेट के कारण यह सफल नहीं हो सका। वहीं, बिहार में लगातार प्रशासनिक फेरबदल के कारण वहां यह कार्यक्रम सफल नहीं पाया है। उन्होंने कहा, 'बिहार में जिलाधिकारियों का हर तीन महीने में तबादला हो जाता है और ऐसे में कोई इस अभियान को बढ़ाने के इच्छुक नहीं होता।'

Tags:    
Arun Mishra

Arun Mishra

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top