Home > राज्य > हनी ट्रैप में फंसा कर किया अपहरण , 10 दिन बाद पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

हनी ट्रैप में फंसा कर किया अपहरण , 10 दिन बाद पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

 Special Coverage News |  2016-08-18 16:10:31.0  |  New Delhi

हनी ट्रैप में फंसा कर किया अपहरण , 10 दिन बाद पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

दिल्ली के जगतपुरी में एक शख्स को किडनैप करके फिरौती वसूलने के आरोप में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पीड़ित रजनीश को एक महिला और संतोष नामक आरोपी के चंगुल से पुलिस ने 10 दिन बाद सकुशल छुड़ाया है. यह मामला हनी ट्रैप और किडनैपिंग का है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ के साथ इस मामले की जांच कर रही है.
पुलिस उपायुक्त ऋषिपाल ने बताया कि बीते 11 अगस्त को कृष्णा नगर निवासी प्रवीण सिंह ने अपने भाई रजनीश सिंह के लापता होने की शिकायत दी। उसने बताया कि बीते 6 अगस्त को रजनीश घर से निकला था। उसने अपने भाई के अपहरण की आशंका जताई। इस संबंध में पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की। इस बीच परिवार को रजनीश के मोबाइल से दस लाख रुपये फिरौती के लिए किसी शख्स ने फोन किया। इससे यह पुष्टि हो गई कि रजनीश का अपहरण हुआ है।

ऐसे हुआ हनी ट्रैप का शिकार

पीड़ित रजनीश शान्ति मुकुन्द अस्पताल में एक लैब टेकनिशियन है. गुड्डी नामक महिला पिछले 5 महिनों से अपस्ताल में इलाज के बहाने आते-जाते रहती थी. इसी दौरान दोनों में दोस्ती हो गई. बीते 6 अगस्त को उस लड़की ने रजनीश से कहा कि उसके भाई का बर्थडे वह उसे ले जाना चाहती है.

पीड़ित रजनीश के मुताबिक, एक दोस्त के नाते वह उस लड़की के घर जाने के लिए तैयार हो गया. एक ऑटो से दोनों कृष्णा नगर से शाहदरा गए. उसके बाद शाहदरा से गाजियाबाद के भोपारा के लिे दूसरे ऑटो में बैठ गए. वहां एक मकान में लड़की ने उसे एक महिला के हवाले कर दिया और वहां से किसी काम के बहाने बाहर चली गई. महिला ने उसे इंताजर के लिए बोला.

बनाया अश्लील वीडियो

उसने बताया कि कुछ देर बाद उस महिला ने अपने दोस्तों के साथ उसे बंधक बना लिया. उसके साथ जबरन अश्लीलता की गई. उसका वीडियो बनाया गया. उसे 10 दिन एक अंधेरे कमरे में बंद करके मारा पीटा गया. कुछ भी खाना नहीं दिया. महिला और उसका एक साथी संतोष ने कहा कि वह अपने घर कॉल करके 10 लाख रुपये मांगे वरना वे उसे बदनाम कर देंगे.

ऐसे हुई गिरफ्तारी

बीते बुधवार को टेक्निकल सर्विलांस की मदद से थानाध्यक्ष सतीश कुमार की देखरेख में एसआई आरएन पाठक और प्रवीण चौहान ने गाजियाबाद निवासी संतोष को साहिबाबाद से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसकी महिला साथी को भी गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इनके घर से रजनीश को सकुशल मुक्त करवा लिया। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने नीरज और एक अन्य महिला के साथ मिलकर रजनीश का अपहरण किया था। उन्होंने रजनीश को हनी ट्रैप के जरिये फंसाकर उससे जबरन उगाही करने की साजिश रची। इसके लिए उसे एक महिला ने झांसा देकर मिलने के लिए बुलाया। बीते 6 अगस्त को वह उसे साहिबाबाद ले गई, जहां उसे किराये के मकान में उन्होंने बंधक बना लिया।


Tags:    
Share it
Top