Home > राज्य > गाय को मानो मां वर्ना इसके नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं: रघुवर दास

गाय को मानो मां वर्ना इसके नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं: रघुवर दास

 Special Coverage News |  2016-08-20 10:43:37.0  |  नई दिल्ली

गाय को मानो मां वर्ना इसके नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं: रघुवर दास

नई दिल्ली: गोरक्षा पर हो रहे राजनीतिक घमासान के बीच झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने शनिवार को कहा है कि जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को मां के रूप में मानना चाहिए। रघुवर दास ने गोरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी करने वालों को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा गाय बचाने की आड़ में हिंसा नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गाय बचाने के नाम पर हाल में हुई हिंसक घटनाओं में पशु तस्कर शामिल हो सकते हैं।

पिछले कई महीने से देश की राजनीति गोरक्षा को लेकर घिरती नजर आ रही है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी छह अगस्त को गोरक्षकों पर अपना रोष व्यक्त करते हुए कहा था कि गोरक्षा के नाम पर इस तरह के 'समाज विरोधी तत्व' रात को अपराधों में लिप्त रहते हैं और दिन में गोरक्षक बनने का ढोंग करते हैं। बता दें कि दास ने कहा कि 'पूरा संघ परिवार गोरक्षा के सुरक्षा के मुद्दे पर पुरी तरह से सतर्क है, जो लोग भारत को अपना देश मानते हैं, उन्हें गाय को अपनी मां की तरह समझना चाहिए।' गोरक्षा के नाम पर हिंसा को बढ़ावा देने वाले लोगों की पहचान कर उन्हें दंडित किया जाना चाहिए।

दास ने कहा गायों की रक्षा के लिए सरकार हर संभव कदम उठा रही है। उन्होंने अपने प्रदेश में इसके लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी देते हुए बताया, 'हमने सभी पुलिस स्टेशन को इस संबंध में नोटिस जारी किया है। अगर किसी क्षेत्र से गायों की तस्करी की जानकारी मिलती है तो संबंधित पुलिस स्टेशन पर भी कार्रवाई की जाएगी।'

उन्होंने कहा कि उनके प्रदेश से गायों की तस्करी कर उन्हें मालदा के रास्ते बांग्लादेश पहुंचाया जा रहा है। हमने इसे रोकने के लिए निगरानी बढ़ाई है। झारखंड में अभी भी 35 फीसदी दूध की कमी है। उन्होंने कहा, 'कुछ पार्टी गोरक्षा के मुद्दे को बेवजह राजनीतिक रंग दे रहे हैं। गायों की रक्षा का किसी धर्म विशेष से कोई लेना-देना नहीं है। हिंदू हो या मुसलमान सबके बच्चों को गाय के दूध की पोषण के लिए जरूरत है। साथ ही हम यह भी स्पष्ट कर दें गोरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी बर्दाश्त नहीं की जा सकती।'

मोदी की टिप्पणी पर विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने तीखी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी ने गौरक्षकों को 'समाज विरोधी' कहकर उनका अपमान किया है। दास ने कहा, 'इस मुद्दे पर हमारे प्रधानमंत्री ने जो भी कहा है, वो बिल्कुल सटीक बात कही है।' उन्होंने कहा, 'मैं व्यक्तिगत रूप से महसूस करता हूं कि जो लोग पशु तस्करी में लिप्त हैं, वही इस प्रकार के अपराध करते हैं, इस बात की जांच की जानी चाहिए।'


Tags:    
Share it
Top