Home > राज्य > देखिये सोलह महीने बाद नीतीश और मांझी की 'गुफ्तगू'

देखिये सोलह महीने बाद नीतीश और मांझी की 'गुफ्तगू'

 Special Coverage news |  2016-07-02 10:45:00.0  |  पटना

देखिये सोलह महीने बाद नीतीश और मांझी की गुफ्तगू

पटना: रमजान के मौके पर लालू के तरफ दिए गए इफ्तार पार्टी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी साथ-साथ गुफ्तगू करते नजर आए। लालू प्रसाद ने उनकी अगवानी की और मांझी को अपने व नीतीश कुमार के बीच खाली कुरसी पर बिठाया। लालू यादव ने पटना में अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव के आवास पर इफ्तार पार्टी का आयोजन रखा था।

इस पार्टी में महागठबंधन के आला नेताओं के साथ-साथ तकरीबन 6 से 7 हजार लोगों ने भाग लिया।लालू यादव की यह खासियत रही है कि चाहे वो मकर संक्रांति के अवसर पर दही चूरा का मौका हो या फिर रमजान के अवसर पर इफ्तार का वो अपने मेहमानबाजी में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि आज के दिन को राजनीतिक से नहीं देखना चाहिए। आज का दिन सांप्रदायिक सौहार्द का दिन है। वह पूर्व मुख्यमंत्री हैं तो नीतीश कुमार की वजह से हैं।

राजनीति में संभावनाओं की कमी नहीं है। इफ्तार के मौके पर सभी लोग एक दूसरे से मिलते ही हैं। इस राजनीतिक मेलजोल का कोई वजह नहीं खोजा जाना चाहिये।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहा कि भाजपा वाले नेता डर से आज यहां नहीं आये, क्योंकि उन्हें डर है कि यहां आने पर पार्टी से निकाल दिया जायेगा।

जीतन राम मांझी की ओर से 26 जून को दिये इफ्तार पार्टी में राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद भी शामिल हुए थे।


Tags:    
Share it
Top