Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुलायम-शिवपाल रिटर्न्स, अखिलेश से छिनेगी पार्टी की कमान?

मुलायम-शिवपाल रिटर्न्स, अखिलेश से छिनेगी पार्टी की कमान?

 Arun Mishra |  2017-03-13 06:32:55.0  |  New Delhi

मुलायम-शिवपाल रिटर्न्स, अखिलेश से छिनेगी पार्टी की कमान?मुलायम �?र शिवपाल (File Photo)

लखनऊ : उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद समाजवादी पार्टी में फिर उठा-पटक शुरू शुरू हो गई है। पार्टी का आंतरिक कलह एक बार फिर सिर उठाता दिख रहा है। शिवपाल सिंह यादव ने रविवार को अमिताभ बच्चन की आवाज वाला और खुद को केंद्र में रखते हुए एक विडियो पेश किया। इसमें उन्होंने समाजवादी पार्टी (SP) की पुरानी चमक को हासिल करने और सत्ता में वापसी का संकल्प जताया। यह विडियो यादव परिवार में फिर से विवाद शुरू होने के पहले की कड़ी जान पड़ती है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद शिवपाल कैंप फिर से यह मांग तेज कर सकता है कि पार्टी की कमान शिवपाल और मुलायम सिंह यादव के हाथों में दे दी जाए। शिवपाल के करीबी सूत्रों ने बताया कि शिवपाल और मुलायम अपने गांव सैफई में एकसाथ होली मनाएंगे और उसके बाद मंगलवार को लखनऊ लौटेंगे, जहां वे हार के कारणों का 'जायजा' लेंगे।

इस छोटे से विडियो में शिवपाल ने कहा, 'हम जीतकर हारे हैं, हम फिर लड़कर जीतेंगे।' इसमें अमिताभ बच्चन की आवाज में पार्टी के लिए कुछ प्रेरणादायक पंक्तियों का भी पाठ किया गया है।' बच्चन ने जो पाठ किया है, उसकी एक बानगी देखिए, 'पापियों का हक नहीं है कि लें परीक्षा तेरी। तू किस लिए हताश है? चल तेरे वजूद की समय को भी तलाश है।' इस विडियो में मुख्य तौर पर शिवपाल और मुलायम पर फोकस किया गया है और एक छोटा सा शॉट अखिलेश यादव का है।

विधानसभा चुनाव में मिली इस करारी हार के बाद रामगोपाल की भी मुश्किल बढ़ने वाली है। जिस तरह शिवपाल और मुलायम को 1 जनवरी को उनके पद से हटाया गया था, उसके मद्देनजर उनके लिए भी स्थितियां बिगड़ सकती हैं।

गौरतलब है कि शिवपाल और मुलायम, दोनों ने कांग्रेस के साथ SP के गठबंधन का विरोध किया था। इस गठबंधन से पार्टी को विधानसभा चुनाव में कोई फायदा नहीं हुआ। मुलायम ने रविवार को लखनऊ में जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट बिल्डिंग का दौरा किया, जहां अखिलेश भी पहुंचे। इसी बिल्डिंग में समाजवादी पार्टी का वॉर रूम था। इसके बाद मुलायम सैफई के लिए रवाना हो गए। शिवपाल जसवंतनगर विधानसभा सीट से अपनी बड़ी जीत को लेकर खुश थे। एक सूत्र ने कहा, 'उन्होंने मोदी लहर के बावजूद अपनी ताकत से जीत हासिल की। अखिलेश जहां नाकाम रहे, वहीं शिवपाल ने अपनी सीट जीत ली। चूंकि अखिलेश का प्रयोग नाकाम रहा, तो ऐसे में अब समय आ गया है कि शिवपाल और मुलायम पार्टी का नियंत्रण अपने हाथों में ले लें।'
Courtesy : NBT (अमन शर्मा)

Tags:    
Share it
Top