Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > यश भारती अवॉर्ड की जांच करांएगे CM योगी, अवॉर्ड की होगी समीक्षा

यश भारती अवॉर्ड की जांच करांएगे CM योगी, अवॉर्ड की होगी समीक्षा

 Ekta singh |  2017-04-21 07:47:48.0  |  लखनऊ

यश भारती अवॉर्ड की जांच करांएगे CM योगी, अवॉर्ड की होगी समीक्षा

लखनऊ : यूपी के सबसे बड़े अवार्ड यश भारती की जांच कराने का CM योगी आदित्यनाथ ने फैसला क‍िया है। CM योगी ने कहा क‍ि ये अवार्ड किन आधारों और मापदंडों पर दिए गए, इसकी समीक्षा की जानी चाह‍िए। उन्होंने कहा कि पुरस्कारों के वितरण के दौरान उसकी गरिमा का भी ध्यान रखा जाना चाह‍िए। अपात्रों को अनावश्यक सम्मान‍ित करने से पुरस्कार की गरिमा गिरती है। इस पुरस्कार को लेकर सवाल उठे और आरोप लगे क‍ि अखिलेश यादव ने तमाम गरीब लोगों को आर्थिक मदद करने के लिए यश भारती पुरस्कार दे दिया। अखिलेश यादव पर आरोप लगा है की लोक भवन के सभागार में पुरस्कार समारोह का संचालन करने वाली महिला को खुश होकर उसी मंच से यश भारती पुरस्कार देने का ऐलान कर दिया था।

बता दे की यह अवॉर्ड मुलायम सिंह यादव ने 1994 में शुरू किया था। इसमें उत्तरप्रदेश से ताल्लुक रखने वाले ऐसे लोगों को दिया जाता है जिन्होंने ने कला, संस्कृति, साहित्य या खेलकूद के क्षेत्र में देश के लिए नाम कमाया हो। इस पुरस्कार में 11 लाख रुपये के अलावा ताउम्र 50 हजार रुपये की पेंशन भी मिलती है। अब तक इन लोगों को मिल चुकी है यश भारती पुरस्कार कैफी आजमी, उस्ताद बिस्मिल्ला खां, अमिताभ बच्चन, हरिवंश राय बच्चन, शुभा मुद्गल, रेखा भारद्वाज, रीता गांगुली, कैलाश खेर, नवाज़ुद्दीन सिद्द़ीकी़, नसीरूद्दीन शाह, रविंद्र जैन, भुवनेश्वर कुमार,।

Tags:    
Ekta singh

Ekta singh

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Similar Posts

Share it
Top