Home > राज्य > केरल हाईकोर्ट में महिला ने दाखिल की याचिका, बोली जबरन धर्मपरिवर्तन कराकर बनाया गया मुस्लिम

केरल हाईकोर्ट में महिला ने दाखिल की याचिका, बोली जबरन धर्मपरिवर्तन कराकर बनाया गया मुस्लिम

केरल हाईकोर्ट में 25 साल की एक महिला ने जबरन धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबूल करवाने को लेकर याचिक दायर की है। इस्लाम कबूल करवाया गया और आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में शामिल कराने की कोशिश की गई।

 SCN Team |  2017-11-11 09:48:39.0  |  नई दिल्ली

केरल हाईकोर्ट में महिला ने दाखिल की याचिका, बोली जबरन धर्मपरिवर्तन कराकर बनाया गया मुस्लिम

तिरुवनंतपुरम: केरल हाईकोर्ट में 25 साल की एक महिला ने जबरन धर्म परिवर्तन कर इस्लाम कबूल करवाने को लेकर याचिक दायर की है। याचिक में महिला ने दावा किया है कि उसे जबरन इस्लाम कबूल करवाया गया और आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में शामिल कराने की कोशिश की गई। इसके अलावा महिला ने 'सेक्स स्लेव' बनाकर रखे जाने का भी दावा किया।

कोर्ट में दाखिल की याचिका में महिला ने कहा, 'वह जबरत धर्म परिवर्तन, धोखे से विवाह और सेक्स स्लेवरी की पीड़ित है।' मूल रूप से याचिकाकर्ता केरल की है, लेकिन जन्म और उसकी परवरिश गुजरात के जामनगर में हुई। अपनी याचिका में महिला ने कहा है कि उसने मोहम्मद रियाज नाम के व्यक्ति से शादी की थी, जिसने उसके धोखाधड़ी की। उसने नकली आधार कार्ड बनवाया हुआ था। इसके बाद रियाज ने न्यूड तस्वीरों को लेकर धमकाया और उसे लेकर सऊदी अरब चला गया। कट्टरपंथी बनाने के लिए सऊदी में उसे जाकिर नायक की वीडियो दिखाई गईं।
सीरिया लेकर जाना चाहता था रियाज
याचिकाकर्ता ने आगे कहा कि रियाज के पास सीरिया जाने का प्लान था। जिसके बारे में उसने बाताया था कि कुछ दिन में वे सीरिया में शिफ्ट हो जाएंगे। रियाज सीरीया में आईएसआईएस के आतंकियों के हाथों उसे बेचना चाहता था। हालांकि, किसी तरह महिला इंटरनेट की जरिए अपने माता-पिता से संपर्क करने में कामयाब रही। महिला ने अपने मां-बाप से उसे बचाने गुजारिश की। इसके बाद 4 अक्टूबर को महिला अपने पिता की मदद से अहमदाबाद लौट आई।
महिला ने अपनी याचिका में कहा है कि वह केरल वापस जाने से डरी हुई है। याचिकाकर्ता ने कोर्ट से कहा है कि सरकार और खुफिया एजेंसियां 'आतंकवादी समूहों और संगठनों की राष्ट्री विरोधी गतिविधियों को लेकर मूक दर्शक बनी हुई हैं।'

Tags:    
SCN Team

SCN Team

Never Give Up..


Share it
Top