Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सहारनपुर > असली सच: पीड़ित शिकायतकर्ताओं को योगी सरकार में मिलता है कितना इंसाफ ?

असली सच: पीड़ित शिकायतकर्ताओं को योगी सरकार में मिलता है कितना इंसाफ ?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार में सूबे में गरीब पीड़ित शिकायतकर्ताओं दुखियारों व उनका का साथ देने का दम भरती है

 शिव कुमार मिश्र |  2018-04-06 04:33:58.0  |  सहारनपुर

असली सच: पीड़ित शिकायतकर्ताओं को योगी सरकार में मिलता है कितना इंसाफ ?

सहारनपुर: यूपी में जंहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार में सूबे में गरीब पीड़ित शिकायतकर्ताओं दुखियारों व उनका का साथ देने का दम भरती है किंतु ऐसा कहीं भी नजर नहीं आ रहा सभी सरकारी विभागों में बैठे अफसर अपनी तानाशाही से गरीब पीड़ित शिकायतकर्ताओं शोषण ही कर रहे हैं इसमें कोई दो राय नहीं है जबसे योगी सरकार बनी है। तब से सरकारी विभागों में बैठे अफसरों के हौसले बुलंद ही नजर आ रहे हैं। जग जाहिर होता है। की योगी सरकार दम तो भरती है।


पीड़ितों की हर समस्याओं के निस्तारण पर सुनवाई का के सभी विभागों में गरीब पीड़ित शिकायतकर्ताओं की समस्याएं सुनी जाएं पर ऐसा कुछ भी होता दिख नहीं रहा जबसे योगी सरकार बनी है विभागीय अधिकारियों के हाथ ही मजबूत हुए हैं। ना की जनता के सरकारी विभागों में बैठे अफसर लोगों की शिकायत भी शिकायतकर्ता की ऐसे सुनते हैं जैसे वह कोई मुजरिम हो और जज के सामने अपनी सफाई ऐसे दे रहा हो कि साहब मैंने शिकायत के अलावा कोई गुनाह नहीं किया है। पर अफसर तो अफसर होता है। अपनी कुर्सी का रौब कहें या फिर योगी सरकार की मेहरबानी यह हम नहीं कहते यह वह शिकायतकर्ता हैं। जिनके साथ अभद्र व्यवहार हुआ है।


आपको अगर इसी बात का प्रमाण चाहिए तो कुछ समय निकालिए और विभागों के चक्कर काटने शुरू कर दीजिए जहां ऐसे अनेक शिकायतकर्ताओं कि एक लंबी फेहरिस्त मौजूद होगी। शिकायतकर्ताओं से इस बात को देख कर तो यही लगता है। की योगी सरकार में केवल अफसरों के हाथ ही मजबूत हुए हैं। ना की जनता के पीड़ित शिकायतकर्ता आज भी अपनी एक छोटी सी समस्या को लेकर सरकारी विभागों के चक्कर काट रहा है। इनमें से ऐसे अनेक पीड़ित शिकायतकर्ता मिल जाएंगे जिनके साथ अभद्र व्यवहार हुआ है। बार बार चक्कर काटने के बावजूद उनकी समस्या तो दूर बल्कि उन्हें अपने विभाग से अपनी तानाशाही से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता है।


विधुत विभाग के डिस्ट्रिक्ट हेड ऑफिस के एक एई मीटर की तानाशाही तो इस कदर हावी है। की मानो जैसे मुख्य मंत्री की कुर्सी पर यही बिराजमान हो चले हैं। उसे किसी भी प्रकार का भय नहीं एक पीड़ित उपभोक्ता के अनुसार उसके साथ इस एई मीटर द्वारा उपभोगता से अभद्रता की गयी। इस एई मीटर ने उपभोगता के विद्युत सेक्शन लोड के लिए आये आवेदन पत्र को लेकर तीन दिन तक उपभोक्ता को चक्कर कटाया उपभोगता के मीटर जल्द लगाये जाने के आग्रह करने पर इस एई मीटर ने अपने ही ऑफिस में उसे खरी खोटी सुना डाली कुछ यही हाल ए बयाँ नगर निगम के नगर आयुक्त का है।


उन्हें भी पीड़ित शिकायतकर्ता एक आंख नहीं भाता रिपोर्ट अहमद खान उर्फ मोनू पीड़ित शिकायतकर्ता की एक छोटी सी समस्या के भी निस्तारण करने के लिए कई कई दिन का समय लगा दिया जाता है। एक अफसर तो अपने अभद्र व्यवहार से ऐसे मशहूर हो चुके हैं। की आये दिन किसी ना किसी शिकायतकर्ता के साथ अभद्र व्यवहार के किससे सामने आते हैं के जिनके चर्चित किस्से आम हो चलें हैं । क्या इसी का वादा लेकर चली थी योगी सरकार खैर मालूम पड़ता है । पीड़ित शिकायतकर्ता गरीब अपने ही बनाए हुए चक्रव्यूह में फंसता हुआ नजर आ रहा है । बेरहाल अपने अभद्र व्यवहार से अपनी कार्यशैली को अंजाम देने वाले अफसरों के हौसले और बुलंद हो चले हैं.


अहमद खान

Tags:    
शिव कुमार मिश्र

शिव कुमार मिश्र

Special Coverage News Contributors help bring you the latest news around you.


Share it
Top