Top
Breaking News
Home > राज्य > बिहार > राजस्थान के बाद अब बिहार में कोरोना वायरस का अलर्ट, छात्रा में पाए गए लक्षण

राजस्थान के बाद अब बिहार में कोरोना वायरस का अलर्ट, छात्रा में पाए गए लक्षण

चीन से शुरू होने वाला कोरोना वायरस दुनिया के 10 से ज्यादा देशों में फैल चुका है. चीन में अबतक जहां 80 लोगों की मौत हो चुकी है.

 Arun Mishra |  27 Jan 2020 6:02 AM GMT  |  दिल्ली

राजस्थान के बाद अब बिहार में कोरोना वायरस का अलर्ट, छात्रा में पाए गए लक्षण

छपरा: दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस का कहर जारी है. चीन से शुरू होने वाला कोरोना वायरस दुनिया के 10 से ज्यादा देशों में फैल चुका है. चीन में अबतक जहां 80 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं भारत में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है. अमेरिका में भी कोरोना वायरस से 5 पीड़ितों की पुष्टि हुई है.

बिहार में कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है. दरअसल छपरा जिले में कोरोना का मरीज मिला है. मरीज में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं. उसे बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच भेजा गया है. लड़की शांतिनगर की रहने वाली है और चीन में न्यूरो साइंस की पढ़ाई करती है. कोरोना का वायरस मिलने से छपरा में पहले हड़कंप मच गया फिर डॉक्टरों ने उसे इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर किया.

राजस्थान में कोरोना वायरस से प्रभावित को आइसोलेशन में रखने के निर्देश

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रशासन को चीन से एमबीबीस का अध्ययन कर आए डॉक्टर के कोरोना वायरस से प्रभावित होने की आशंका पाए जाने पर संदिग्ध मरीज को तत्काल आइसोलेशन में रखने एवं उनके पूरे परिवार की स्क्रीनिंग करने के निर्देश दिए हैं.

स्वास्थ्य ने संदिग्ध मरीज के सेम्पल लेकर तत्काल सेम्पल पूना स्थित नेशनल वायरोलॉजी लेब भिजवा कर जांच करवाने के निर्देश दिये हैं. उन्होंने बताया कि प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के 4 जिलों में 18 व्यक्ति चीन की यात्रा कर वापस लौटे हैं. संबंधित चारों जिलों के मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारियों को इन सभी को 28 दिन तक लगातार निगरानी में रखने के निर्देश दिए हैं. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों से आने वाले व्यक्तियों को संदिग्ध पाए जाने पर पूरी स्क्रीनिंग करवाने का भी आग्रह किया है.

क्या है कोरोना

कोरोना वायरस जानवरों से मनुष्यों तक पहुंचता है और यह न्यूमोनिया का कारण भी बन सकता है. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक कोरोना वायरस एक जूनोटिक है और माना जा रहा है. माना जा रहा है कि सी-फूड खाने से बीमारी फैली है और कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैल सकता है.

वहीं, डॉक्टर मधेश्वर सिन्हा ने इसके बारे में कहा कि रात भर मरीज को डॉक्टरों ने निगरानी में रखा और सुबह इलाज के लिए पीएमसीएच रेफर किया गया. इस घटना से पीएमसीएच में भी अलर्ट की स्थिति बनी हुई है. हालांकि छात्रा का ब्लड सैंपल जांच के लिए फिलहाल भेजा गया है.

कोरोना वायरस का कहर चीन से शुरू हुआ था. न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक चीन में अब तक इससे 80 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कुल 2,744 लोग कोरोना वायरस से प्रभावित हैं. यह जानकारी चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन ने दी है. कमिशन के मुताबिक 461 लोगों की हालत गंभीर है. जबकि पिछले 24 घंटे में 769 कन्फर्म केस और 24 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. चीन में युद्द स्तर पर इससे बचाव के लिए उपाय किए जा रहे हैं. कई प्रमुख शहरों में लोगों को बाहर निकलने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Arun Mishra

Arun Mishra

Arun Mishra


Next Story

नवीनतम

Share it