Top
Home > राज्य > बिहार > सासाराम के बाद सीवान में बंदी की मौत के बाद पुलिस के जवानों की पिटाई, मौका देख भागा दूसरा कैदी

सासाराम के बाद सीवान में बंदी की मौत के बाद पुलिस के जवानों की पिटाई, मौका देख भागा दूसरा कैदी

सिवान में एक कैदी की मौत के बाद हंगामा हो गया है।

 Special Coverage News |  21 Aug 2019 9:04 AM GMT  |  दिल्ली

सासाराम के बाद सीवान में बंदी की मौत के बाद पुलिस के जवानों की पिटाई, मौका देख भागा दूसरा कैदी
x

सीवान (कुंज बिहारी मिश्र) : सिवान में एक कैदी की मौत के बाद हंगामा हो गया है। शराब पीने के मामले में एक सप्ताह पूर्व गिरफ्तार बंदी की बीती रात सदर अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। सूचना पर परिजनों ने सदर अस्पताल के बाहर जमकर बवाल किया।...

बिहार के सासाराम में हाजत में एक बंदी की मैं मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि सिवान में एक कैदी की मौत ने बड़ा बवाल खड़ा कर दिया है। परिजनों का आरोप है की पुलिस पिटाई से कैदी की मौत हुई है जबकि पुलिस इससे इनकार कर रही है। वहां की स्थिति बहुत तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है परिजन काफी हंगामा कर रहे हैं और बड़हरिया मार्ग जाम कर दिए हैं।

दरअसल, शराब पीने के एक मामले में एक सप्ताह पूर्व गिरफ्तार तीन बंदी में से एक की मंगलवार की रात सदर अस्पताल में मौत हो गई। सूचना मिलते ही परिजन पुलिस पर लापरवाही और पिटाई का आरोप लगा अस्पताल में हंगामा करने लगे। सिवान-बड़हरिया मुख्य मार्ग को जाम कर दिया।

पुलिस की गाड़ी पर पथराव कर दिया। इस बीच पहुंचे पुलिस के जवानों को भी परिजनों ने नहीं बक्शा। हंगामे के दौरान हत्थे चढ़े सैफ के दो जवानों को पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया। वहीं बवाल होता देख दूसरा बंदी अस्पताल के बेड से हथकड़ी सरकाकर फरार हो गया।

जीबी नगर थाना क्षेत्र के गौर कथक गांव निवासी लाल बहादुर रावत को जीबी नगर पुलिस ने एक हफ्ते पहले शराब पीने के आरोप में पकड़ा था। लाल बहादुर के साथ उसके दो साथियों को भी दबोचा गया था। पुलिस ने बताया कि हाजत में शराब न मिलने से तीनों की तबीयत खराब हो गई। वे बार-बार शराब मांग रहे थे। एेसे में मंगलवार की देर रात तबीयत ज्यादा खराब होने पर तीनों को पुलिस ने सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

अस्पताल पहुंचकर भी सभी शराब के लिए बेचैन होने लगे। बेड पर हाथ पर पटकने लगे। जिसपर पुलिस कर्मियों ने उनका हाथ पैर रस्सी और कपड़े के सहारे बेड पर बांध दिया। इस बीच देर रात करीब एक बजे तीन में से लाल बहादुर रावत की इलाज के दौरान मौत हो गई।

जैसे ही सूचना मृतक के परिजनों को मिली वे अस्पताल पहुंच गए। पुलिस कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगाकर बवाल करने लगे। महिलाओं ने मोर्चा संभालते हुए पुलिस की गाड़ी रोक दी। परिजन सड़क पर बैठ गए और सिवान-बड़हरिया मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। बवाल बढ़ता देख बड़ी संख्या में पुलिस के जवान पहुंच गए हैं। स्थिति अब नियंत्रण में है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it