Home > राज्य > बिहार > पटना > चुनाव से पूर्व बिहार में होर्डिंग वार: कांग्रेस ने बताई नेताओं की जातियां, भाजपा ने बताया भारतीय

चुनाव से पूर्व बिहार में होर्डिंग वार: कांग्रेस ने बताई नेताओं की जातियां, भाजपा ने बताया भारतीय

बिहार में लोकसभा चुनाव के पहले ही राजनीतिक दलों में बयानबाजी,होर्डिंग की लड़ाई शुरू हो चुकी है। एक ओर कांग्रेस ने अपने नेताओं की जातियां बताती होर्डिंग लगाई है तो दूसरी ओर अपने होर्डिंग में भाजपा ने अपने नेताओं को भारतीय बताया।...

 Special Coverage News |  2018-09-29 05:45:38.0  |  पटना

चुनाव से पूर्व बिहार में होर्डिंग वार: कांग्रेस ने बताई नेताओं की जातियां, भाजपा ने बताया भारतीय

पटना से शिवानंद गिरि की रिपोर्ट:-

बिहार के चुनाव में जाति का कितना महत्व है उसका अंदाजा इस बात से लगा़या जा सकता है कांग्रेस जैसी पार्टी भी अपने नेताओं की जाति अपने पोस्टर -होर्डिंग में लगा दी है ताकि जातिगत वोटों का ध्रुवीकरण हो सके ।कांग्रेस के इस कदम के बाद भला बीजेपी क्यों पीछे रहती सो उसने अपने नेताओं के पोस्टरों में जाति नहीं बल्कि 'भारतीय 'बताया है।इस तरह बिहार में पोस्‍टर-होर्डिंग की लड़ाई आरंभ हो गई है। बीते दिनों कांग्रेस ने अपने होर्डिंंग में नेताओं की जातियां बताई तो जवाब में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने नेताओं को 'भारतीय' बताती होर्डिंग लेकर आई है।




बिहार में कॉंग्रेस पार्टी के नेताएं के फेरबदल के बाद पटना के आयकर चौराहा सहित कुछ जगहों पर पर कांग्रेस ने अपने नेताओं की जातीय पहचान के साथ तस्‍वीरों वाली होर्डिंग लगा जातिवाद का खुला प्रदर्शन किया । लिहाजा होर्डिंग नगर में चर्चा का विषय बन गई। इसके जवाब में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने पार्टी नेताओं की होर्डिंग लगा कर सबको 'भारतीय' बताया है।

होर्डिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तस्वीरें सबसे ऊपर हैं। फिर, राजनाथ सिंह, रविशंकर प्रसाद, पूनम महाजन, गिरिराज सिंह, मंगल पांडे, आरके सिंह जैसे नेताओं की तस्वीरें हैं। सभी नेताओं की तस्‍वीरों पर 'भारतीय' लिखा है। होर्डिंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'चैंपियंस ऑफ द अर्थ' सम्‍मान मिलने पर बधाई भी दी गई है।

दूसरी ओर पटना के आयकर चौराहा पर कांग्रेस के सिद्धार्थ क्षत्रिय की ओर से एक होर्डिंग लगाई गई थी, जिसे बाद में हटा दिया गया। उसमें बताया गया था कि प्रदेश कार्यसमिति सामाजिक समरसता की मिसाल है। इसमें नवगठित प्रदेश कमेटी में शामिल नेताओं के जाति व धर्म बताए गए थे।




होर्डिंग में सबसे ऊपर की तरफ सोनिया गांधी और मीरा कुमार की तस्‍वीरें थीं। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी की तस्वीर पर ब्राह्मण समुदाय लिखा हुआ था तो अल्पेश ठाकुर की फोटो पर पिछड़ा समुदाय लिखा था। शक्ति सिंह गोहिल की फोटो पर राजपूत समाज था।

इसीतरह राज्यसभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह को भूमिहार तो अशोक राम को दलित बताया गया था। पूर्व प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष कौकब कादरी को मुसलमान बताया गया था। होर्डिंग में बिहार कांग्रेस कार्य समिति में सामाजिक समरसता की मिसाल कायम करने पर राहुल गांधी और शक्ति सिंह गोहिल का आभार जताया गया था।

Tags:    
Share it
Top