Home > राज्य > बिहार > पटना > यादव और कुशवाहा मिलकर पकाएंगे बिहार में खीर, इस व्यंजन को बनने से कोई नहीं रोक सकता - उपेंद्र कुशवाहा

यादव और कुशवाहा मिलकर पकाएंगे बिहार में खीर, इस व्यंजन को बनने से कोई नहीं रोक सकता - उपेंद्र कुशवाहा

 Special Coverage News |  26 Aug 2018 11:08 AM GMT

यादव और कुशवाहा मिलकर पकाएंगे बिहार में खीर, इस व्यंजन को बनने से कोई नहीं रोक सकता - उपेंद्र कुशवाहा

केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कल पटना में एक कार्यक्रम में महागठबंधन में शामिल होने के संकेत दे दिए हैं. उन्होंने कल कहा कि यदुवंशियों (यादवों) का दूध और कुशवंशियों (कुशवाहा समाज जिससे उपेंद्र कुशवाहा आते हैं) का चावल मिल जाए तो खीर बढ़िया होगी. और इस स्वादिष्ट व्यंजन को बनने से कोई रोक नहीं सकता है. उनके इस तरह 2019 चुनाव के लिए महागठबंधन में जाने के संकेत देने से बीजेपी के लिए मुश्किलें बढ़ सकती हैं.


यादव परंपरागत तौर पर पशुपालन के लिए जाने जाते हैं और कुशवाहा समाज कृषि से ताल्लुक रखता हैं लिहाजा दोनों के संयोग से जिस सियासी खीर बनाने की बात हो रही है वो आने वाले चुनावों के लिए उपेंद्र कुशवाहा के रुख को साफ कर रहा है. पिछले काफी समय से उपेंद्र कुशवाहा अपने बयानों से बीजेपी विरोधी बातें करते आ रहे हैं और उनके बारे में कहा जा रहा है कि वो 2019 के लिए महागठबंधन में जाने के लिए माहौल बना रहे हैं.

दरअसल ये सारी बातें इसलिए उठ रही हैं क्योंकि जेडीयू के एनडीए में शामिल होने के बाद 2019 चुनावों के लिए बीजेपी, आरएलएसपी और एलजेपी (रामविलास पासवान की पार्टी) के बीचे सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बन पा रही है और इसी के चलते गाहे-बगाहे उपेंद्र कुशवाहा महागठबंधन में जाने के संकेत देते रहते हैं.

उपेंद्र कुशवाहा हैं नाराज

फिलहाल कुशवाहा एनडीए के सदस्य हैं और केंद्र सरकार में राज्यमंत्री हैं. वो पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पद छोड़ने के लिए कह चुके हैं और इसके अलावा ऐसे कई मौके आए जब तेजस्वी यादव ने उन्हें महागठबंधन में शामिल होने का न्यौता दिया है. 10 जून को उन्होंने उपेंद्र कुशवाहा को महागठबंधन में शामिल होने का औपचारिक न्यौता देते हुए ट्वीट भी किए थे जिसमें उनकी तारीफ की थी और उन्हें जल्द इस बारे में फैसला करने के लिए कहा था. हालांकि बाद में खबर आई थी कि उपेंद्र कुशवाहा ने तेजस्वी के इस ऑफर को ठुकरा दिया था.

यहां से शुरू हुआ था मामला

दरअसल 7 जून को एनडीए की तरफ से दिए गए महाभोज में केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा शामिल नहीं हुए थे जिसके बाद कयास लगाए जा रहे थे कि कुशवाहा नीतीश कुमार और बीजेपी से नाराज़ चल रहे हैं.


तेजस्वी यादव बोले

बिहार के राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि नि:संदेह उपेन्द्र जी, स्वादिष्ट और पौष्टिक खीर श्रमशील लोगों की ज़रूरत है. पंचमेवा के स्वास्थ्यवर्धक गुण ना केवल शरीर बल्कि स्वस्थ समतामूलक समाज के निर्माण में भी ऊर्जा देते हैं. प्रेमभाव से बनाई गई खीर में पौष्टिकता, स्वाद और ऊर्जा की भरपूर मात्रा होती है. यह एक अच्छा व्यंजन है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top