Home > Archived > इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ग्रेटर नोएडा के सुपरटेक-आम्रपाली प्रोजेक्ट्स गिराने का दिया आदेश

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ग्रेटर नोएडा के सुपरटेक-आम्रपाली प्रोजेक्ट्स गिराने का दिया आदेश

 Special News Coverage |  12 Oct 2015 9:56 AM GMT

allahabad high court

नोएडा : इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाते हुए सुपरटेक, आम्रपाली और जगत तारन प्रोजेक्ट को 2 महीने के भीतर गिराने का आदेश दिया है। ये प्रोजेक्ट ग्रेटर नोएडा के पतवाड़ी और दो अन्य गांवों में हैं। बताया जा रहा है कि जिस जमीन पर ये प्रोजेक्ट हैं, वह कब्रिस्तान की जमीन है। इसी वजह से इसका विरोध हो रहा है। अब हाईकोर्ट ने बिल्डरों को 2 महीने का वक्त दिया है।

हाईकोर्ट पहले भी सुपरटेक के ट्विन टावर गिराने के आदेश दे चुका है। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था। सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक को ग्राहकों का पैसा लौटाने का आदेश दिया था।




style="display:inline-block;width:336px;height:280px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="4376161085">



दरअसल, यूपी सरकार इंडस्ट्रियल डिवलपमेंट के नाम पर ग्रेटर नोएडा के पटवारी गांव के तमाम किसानों की 589 हेक्टेयर जम्मन अर्जेंसी क्लाज के तहत अधिग्रहित की थी। बाद में ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने इसमें से काफी जम्मन सुपरटेक, आम्रपाली और अजनारा जैसे बिल्डर्स को बेच दी। ये बिल्डर्स इस जमीनों पर मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बनवा रहे थे।

हाईकोर्ट ने जन कल्याण ट्रस्ट की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया। ट्रस्ट का कहना है कि यह जमीन गंव की सोसायटी और तालाब की है। पतवाड़ी गांव में 2000 वर्ग मीटर, तुगलकपुर में 35000 वर्ग मीटर और कंस्ट्रक्शन और इतैहाड़ा में 6000 वर्ग मीटर में यह कंस्ट्रक्शन है।

href="https://www.facebook.com/specialcoveragenews" target="_blank">Facebook पर लाइक करें
Twitter पर फॉलो करें
एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें



style="display:inline-block;width:300px;height:600px"
data-ad-client="ca-pub-6190350017523018"
data-ad-slot="8013496687">


स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top