Home > Archived > अब मेडिकल और मकान के लिए निकाल सकेंगे पीएफ, सरकार ने दी छूट

अब मेडिकल और मकान के लिए निकाल सकेंगे पीएफ, सरकार ने दी छूट

 Special News Coverage |  19 April 2016 8:16 AM GMT

अब मेडिकल और मकान के लिए निकाल सकेंगे पीएफ, सरकार ने दी छूट

नई दिल्ली: पीएफ निकालने के नियमों में केंद्र सरकार ने संशोधन करते हुए कहा कि अब कोई भी खाताधारक इलाज, हाउसिंग, शादी और बच्चों की पढ़ाई के लिए खाते में जमा पूरी राशि निकाल सकता है। श्रम मंत्रालय ने नियमों में संशोधन का ऐलान कर पीएफ खाताधारकों को बड़ी राहत दी है। 30 जुलाई इसके लिए आखिरी समय है। इसके बाद नए नियम लागू हो जाएंगे।

प्रस्तावित कानून के ऐलान के बाद से ही पेसोपेश में पड़े पीएफ खाताधारकों के लिए यह बड़ी राहत पाई जा सकती है। हालांकि, मौजूदा नियम के तहत कोई भी व्यक्ति नौकरी छोडऩे के दो महीने के पश्चात अपने पीएफ की पूरी राशि निकाल सकता है। इसके अलावा नौकरी के दौरान भी खाताधारक को 54 साल की उम्र में पीएफ की रकम निकालने का प्रावधान है।


पिछले दिनों केंद्र सरकार ने पीएफ की निकासी पर कई नए नियम लगाने का ऐलान किया था। 1 मई से लागू होने वाले इस प्रस्तावित नियम के तहत कोई भी एंप्लॉयी नौकरी छोडऩे या निकाले जाने के बाद भी पूरा पीएफ नहीं निकाल सकता। उसे 58 साल के बाद ही पीएफ की पूरी राशि निकालने का अधिकार होगा।

श्रम मंत्रालय के मुताबिक हाउसिंग, गंभीर बीमारी के इलाज बच्चों की मेडिकल, डेंटल और इंजिनियरिंग की पढ़ाई और उनकी शादी के लिए सदस्य पीएफ की पूरी राशि निकालने के लिए आवेदन कर सकेंगे। यह प्रावधान इसी साल अगस्त से लागू होंगे।

ट्रेड यूनियनों की ओर से श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय को ज्ञापन सौंपे जाने के बाद प्रस्तावित नियमों में यह संशोधन किया गया है. एक सरकारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया कि मंत्रालय ने फैसला लिया है कि मेंबर को अपनी पूरी जमा राशि निकालने का ज्ञापन देगी बताया जा रहा है कि उपरोक्त कारणों के चलते आवेदन करता है तो वह निकासी के दिन तक के ब्याज की राशि को भी निकालने का अधिकारी होगा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top