Top
Begin typing your search...

रेलवे का नया नियम, अब 1 महीने में एक आईडी पर सिर्फ 6 टिकट होंगे बुक

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
indian rail



नई दिल्ली : रेल मंत्रालय ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग की धांधली रोकने के लिए नियमों में बड़े बदलाव करने का फैसला किया है। नए नियमों के तहत आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर अब एक यूजर आईडी से एक महीने में केवल छह टिकट ही बुक किए जा सकेंगे।

नया नियम 15 फरवरी से लागू होगा। सूत्रों के मुताबिक, रेलवे दलालों पर लगाम कसने के लिए यह तरीका इस्तेमाल करने जा रही है। माैजूदा लिमिट हर महीने 10 टिकट बुक कराने की है, जो एक आईडी पर घटकर 6 टिकट हो जाएगी।

रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार समीक्षा में सामने आया है कि 90 प्रतिशत यूजर एक महीने में छह टिकट तक बुक करते हैं। वहीं इससे अधिक बुकिंग करने वालों की संख्या महज 10 फीसदी है। विभाग को शक है कि ये यूजर टिकटों की दलाली की गतिविधियों में लिप्त हैं। इसलिए महीने के कोटे की संख्या 10 से घटाकर छह की जा रही है। इसका सीधा फायदा वास्तविक यात्रियों को मिलेगा।

आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ऑनलाइन टिकटिंग में होने वाले गोलमाल को रोकने के लिए कई प्रभावी कदम उठाएं हैं। आइए जानते हैं क्या हुए बदलाव-

1- एडवांस टिकट बुकिंग पीरियड के लिए सुबह 8 बजे से 10 बजे तक एक यूजर आईडी के जरिए सिर्फ दो ऑनलाइन टिकट ही बुक किए जा सकते हैं।

2- तत्काल टिकट की ऑनलाइन बुकिंग के लिए सुबह 10 से 12 बजे तक एक यूजर आईडी से महज दो टिकट की बुकिंग ही हो सकती है।

3- सुबह 8 बजे से लेकर सुबह 10 बजे तक आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर क्विक बुक ऑप्शन को निष्क्रिय कर दिया गया है।

4- सुबह 8 बजे से लेकर 8:30 तक आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर कोई भी बुकिंग एजेंट जनरल बुकिंग के लिए लॉगिन नहीं कर सकता है। सुबह 10 बजे से 10:30 तक तत्काल कोटे के एसी टिकटों की बुकिंग, बुकिंग एजेंट नहीं कर सकते हैं।

5- सुबह 8 बजे से लेकर दोपहर 12 बजे तक ई-वॉलेट और कैश कार्ड के जरिए ऑनलाइन टिकट की बुकिंग को रोक दिया गया है।

6- सुबह 8 बजे से दोपहर 12 बजे तक एक लॉगिन से रिटर्न या ऑनवर्ड जर्नी के अलावा सिर्फ एक बुकिंग ही कराई जा सकती है।
Special News Coverage
Next Story
Share it