Top
Begin typing your search...

भारत सरकार ने लिया बड़ा फैसला, देश में क्रिप्टो करेंसी पर लगेगा बैन

केंद्र सरकार के मंत्रियों की एक समिति ने क्रिप्टो करेंसी पर बैन लगाने की मंजूरी दी है

भारत सरकार ने लिया बड़ा फैसला, देश में क्रिप्टो करेंसी पर लगेगा बैन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने सोमवार को बड़ा फैसला लिया है. भारत में क्रिप्टो करेंसी पर बैन लगेगी. केंद्र सरकार के मंत्रियों की एक समिति ने क्रिप्टो करेंसी पर बैन लगाने की मंजूरी दी है. मंत्रियों की समिति ने कहा कि अगर इसके बावजूद क्रिप्टो करेंसी में लेनदेन होता है तो उसमें दंडित किया जाएगा. क्रिप्टो करेंसी पर मूल्यों की अनिश्चितता के चलते मंत्रियों की एक समिति ने क्रिप्टो करेंसी पर भारत में बैन लगाने की मंजूरी दी है.

पिछले महीने रिपोर्ट आई थी कि क्रिप्टो करेंसी के तहत खरीद-बिक्री करने वालों को 10 साल की कैद की सजा मिलेगी.



2 दिन पहले सरकार ने बताया था कि क्रिप्टो करेंसी पर प्रतिबंध नहीं है. लेकिन सरकार अब इसपर फिर से बैन लगा दिया है. दरअसल तेलंगाना के निजामाबाद से सांसद धर्मपुरी श्रीनिवास ने राज्यसभा में लिखित रूप में सवाल पूछा था कि क्या सरकार ने आधिकारिक तौर पर क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया है. जवाब में सरकार की ओर से कहा गया कि नहीं, भारत में क्रिप्टोकरेंसी पर आधिकारिक प्रतिबंध नहीं है. सांसद के सवाल के जवाब में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि नहीं, क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध नहीं है.

क्या है क्रिप्टो करेंसी

क्रिप्टो करेंसी एक डिजिटल करेंसी होती है, जिसके लिए क्रिप्टोग्राफी का प्रयोग किया जाता है. इसका प्रयोग किसी सामान की खरीदारी या कोई सर्विस खरीदने के लिए किया जा सकता है. सर्वप्रथम क्रिप्टो करेंसी की शुरुआत 2009 में हुई थी और सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी थी बिटकॉइन.

Special Coverage News
Next Story
Share it