Top
Begin typing your search...

अमेजन इंडिया की नई पहल, जून 2020 तक दिखने लगेगा असर

पैकेजिंग में बहुत ज्यादा प्लास्टिक और थर्माकॉल का इस्तेमाल करने की वजह से अमेजन की निंदा होती रही है।

अमेजन इंडिया की नई पहल, जून 2020 तक दिखने लगेगा असर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। बढते प्रदूषण को देखते हुए ई-वाणिज्य क्षेत्र की प्रमुख कंपनी अमेजन इंडिया ने बुधवार को कहा कि उसने जून, 2020 तक एक बार में इस्तेमाल में लाये जाने वाले प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह बंद करने का लक्ष्य रखा है। इसके बदले पेपर कुशन काम में लिए जाएंगे। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने यह जानकारी दी। पर्यावरण प्रदूषण के खिलाफ मुहिम में प्रमुख कंपनियां आगे आ रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पर्यावरण बचाने के लिए लोगों से इस तरह के प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने का आग्रह किया है।

पैकेजिंग में बहुत ज्यादा प्लास्टिक और थर्माकॉल का इस्तेमाल करने की वजह से अमेजन की निंदा होती रही है। कंपनी का अब कहना है कि पर्यावरण के लिए सुरक्षित पैकेजिंग सामग्री जो पूरी तरह रिसाइकल करने योग्य होगी, उसे ही काम में लिया जाएगा । अमेजन ने कहा कि उसके पूर्ति केंद्रों पर सामानों की पैकिंग के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामग्रियों में इस तरह के प्लास्टिक की हिस्सेदारी सात प्रतिशत से भी कम है। अमेजन इंडिया के उपाध्यक्ष (ग्राहक पूर्ति) अखिल सक्सेना ने कहा, 'अमेजन इंडिया टिकाऊ आपूर्ति श्रृंखला के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से पैकिंग सामग्री के सबसे अच्छे इस्तेमाल, कचरा में कमी लाने और पर्यावरण के अनुकूल पैकिंग तंत्र विकसित करने का लक्ष्य है।'

पिछले हफ्ते फ्लिपकार्ट ने कहा था कि उसने सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल 25% कम कर दिया है। मार्च 2021 तक पूरी तरह रिसाइकल प्लास्टिक के इस्तेमाल की योजना है।


Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it