Top
Begin typing your search...

वोडाफोन आइडिया को बड़ा झटका, मार्च तिमाही में 4882 करोड़ का घाटा

पनी को 2018-19 की तीसरी तिमाही में 5,004.60 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

वोडाफोन आइडिया को बड़ा झटका, मार्च तिमाही में 4882 करोड़ का घाटा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड को वित्त वर्ष 2018-19 की जनवरी-मार्च तिमाही में 4,881.90 करोड़ रुपये का एकीकृत घाटा हुआ है. कंपनी को 2018-19 की तीसरी तिमाही में 5,004.60 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था.

कंपनी ने कहा कि दोनों तिमाही के परिणाम की तुलना नहीं की जा सकती है क्योंकि आलोच्य अवधि के दौरान वोडाफोन और आइडिया कंपनी का विलय हुआ है. इस दौरान कंपनी का परिचालन से प्राप्त राजस्व दिसंबर तिमाही के 11,764.80 करोड़ रुपये की तुलना में मार्च तिमाही में 11,775 करोड़ रुपये पर रहा.

वोडाफोन आइडिया के सीईओ बालेश शर्मा ने कहा, 'विलय के बाद शुरू की गई हमारी मुहिमों से सकारात्मक परिणाम मिलने लगे हैं और हम दो साल पहले ही अपने लक्ष्य के रास्ते पर चलने लगे हैं.' पूरे वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान कंपनी को 14,603.90 करोड़ रुपये का घाटा हुआ जबकि इस दौरान उसका राजस्व 37,092.50 करोड़ रुपये रहा.

कंपनी का प्रति उपभोक्ता औसत राजस्व तीसरी तिमाही के 89 रुपये से 16.30 प्रतिशत बढ़कर चौथी तिमाही में 104 रुपये पर पहुंच गया. बीएसई में कंपनी का शेयर 3.21 प्रतिशत मजबूत होकर 14.45 रुपये पर बंद हुआ. कंपनी ने शेयर बाजार में कारोबार समाप्त होने के बाद परिणाम की घोषणा की.

Special Coverage News
Next Story
Share it