Home > बड़ा सवाल : मोदी जी अब अंग भंग आयोग बना दो, ऊँगली और गर्दन कटने वाले कहाँ जायेंगे

बड़ा सवाल : मोदी जी अब अंग भंग आयोग बना दो, ऊँगली और गर्दन कटने वाले कहाँ जायेंगे

 रवीश कुमार |  2017-11-22 12:01:28.0  |  दिल्ली

बड़ा सवाल : मोदी जी अब अंग भंग आयोग बना दो, ऊँगली और गर्दन कटने वाले कहाँ जायेंगे

भारत में सर काटने से लेकर हाथ तोड़ने की मांग में आई तेज़ी को देखते हुए एक नया आयोग बनाया गया है। इसका नाम होगा- अंग-भंग आयोग। अंग-भंग आयोग का काम फिल्म रिलीज़ होने पर नायक अथवा नायिका के सर कटवाना होगा। प्रधानमंत्री का विरोध करने पर सर सलामत रहेगा मगर हाथ कट जाएगा। तोड़ा भी जा सकता है।


अंग-भंग आयोग का कार्यालय सभी ज़िलों में होगा मगर मुख्यालय सभी चैनलों में होगा। इसके अध्यक्ष किसी सभा से होंगे। उनके नीचे कई प्रकार के सचिव होंगे। सर क़लम सचिव, गर्दन तोड़ सचिव, टाँग तोड़ सचिव, हाथ काटो सचिव, नाक तोड़ सचिव, जबड़ा तोड़ सचिव, कपार फोड़ सचिव। छोटी मोटी हड्डियों को तोड़ने का काम आयोग के आई टी सेल वाले करेंगे। इनाम राशि का एलान हैसियत के अनुसार तय की जाएगी।


दस हज़ार से सौ करोड़ तक का प्रावधान होगा। कोई किताब, कोई फिल्म, कोई स्टोरी रूकवाने के लिए आयोग से संपर्क करें।आयोग की अपनी सेना होगी। जिसका नाम भरनी सेना होगा। जैसी करनी होगी वैसी भरनी होगी। सेना में वैसे युवाओं को रोज़गार मिलेगा जो अपने ख़ानदान की कम अज़ कम तीन पीढ़ी बर्बाद करने के लिए तैयार होंगे।

Tags:    
Share it
Top