Home > मोदी जी क्या आपको याद है, कभी आपने यह भी कहा था?

मोदी जी क्या आपको याद है, कभी आपने यह भी कहा था?

 DEEPAK GUPTA |  2018-06-09 08:17:14.0  |  दिल्ली

मोदी जी क्या आपको याद है, कभी आपने यह भी कहा था?

नई दिल्ली: 26 मई 2014 को जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ ले रहे थे तब देश की जनता को ऐसा लग रहा था की अब हमारा देश भी दुनिया में अपना वर्चस्व दिखा सकेगा तथा तरक्की के रास्ते पे चल पड़ेगा.क्योकि देश की जनता को मोदी पर इतना विश्वास था की ये हमारे देश को एक विकसित देश बनाकर दुनिया में महान बना देंगे.परन्तु हुआ बिल्कुल उल्टा सरकार बनने के बाद देश के हालात और भी ज्यादा दयनीय हो गए व्यापारी रो रहा है किसान आत्महत्या कर रहा है युवा बेरोजगार घूम रहा है.और मोदी जी को विदेश यात्रा से ही फुर्सत नहीं मिल पा रही है.


देश की जनता जो मोदी जी के बड़े बड़े भाषण सुनकर एक नया सपना देखने लगी थी कि उनका देश अब बेरोजगारी,गरीबी तथा भ्रष्टाचार जैसी बीमारियों से निजात पा सकेगा और एक नये भारत का निर्माण होगा जो कि विकसित तथा ताकतवर देश बनकर दुनिया में उभरेगा.अब वही जनता अपनेआप को ठगा सा महसूस कर रही है.


किसान जो हमारे देश का आधार है उसको आपके भाषणों को सुनकर एक नई उम्मीद नजर आती थी परन्तु आज वह आत्महत्या करने पर मजबूर है.क्या वह दम सिर्फ आपके भाषणों में ही थी हकीकत में कुछ भी नहीं.किसान आत्महत्या कर रहा है और आपके मंत्री कह रहे है कि वह आत्महत्या मीडिया पर फेमस होने के लिए कर रहा है.क्या यही सब के लिए उसने आपको चुना था.


दुश्मन देश पाकिस्तान जो आये दिन हमारे देश में पथराव और हमारे सेना के जवानो के सिर कलम कर रहा है उसके खिलाफ कुछ करने कि आपमें हिम्मत नहीं बची.1993

में मुंबई में हुए बम धमाकों का कसूरवार दाऊद जो सरकार बनने से पहले आपके भाषणों का बहुत बड़ा मुद्दा हुआ करता था अब उसको पकड़ कर भारत लाना तो दूर उसके बारे में चर्चा भी बंद कर दी.वाह मोदी जी वाह क्या भाषण हुआ करते थे आपके ब्लैकमनी लाएंगे ,15 लाख रूपए,सबके पास अपना घर,भ्रष्टाचार ख़त्म,बेरोजगारी दूर होगी.कहाँ है ये सब वादे जनता आपसे पूछना चाहती है.

Tags:    
Share it
Top