Home > गंगा साफ़ हो गई, बुलेट ट्रेन चल गई, काला धन वापस आ गया, अब और क्या चाहिए बोलो?

गंगा साफ़ हो गई, बुलेट ट्रेन चल गई, काला धन वापस आ गया, अब और क्या चाहिए बोलो?

अब अगर अगला चुनाव जीत गया तो देश से बोलो किस किस को बाहर करना है

 अश्वनी कुमार श्रीवास्त� |  2018-05-05 03:55:43.0  |  दिल्ली

गंगा साफ़ हो गई, बुलेट ट्रेन चल गई, काला धन वापस आ गया, अब और क्या चाहिए बोलो?

जिन नरेंद्र मोदी से पांच बरस में गंगा की सफाई नहीं हो पाई, बुलेट ट्रेन नहीं चल पाई और विदेशों से काला धन नही आ पाया. उन्हीं नरेंद्र मोदी से भक्तगण अगले पांच बरस में कश्मीर समस्या सुलझाने, पाक और चीन को औकात में लाने और देश के 30-40 करोड़ मुसलमानों को दरकिनार कर हिन्दू राष्ट्र बनाने की आस लगाए हैं.


जिस रफ्तार में मोदी जी वादे पूरे कर रहे हैं, उससे तो अगले पांच क्या, पचास बरस भी अपने सपने पूरे होते देखने के लिए भक्तगण ऐसे ही इंतजार करते रह जाएंगे, जैसे कि अभी बुलेट ट्रेन, गंगा सफाई और विदेश से काला धन के लिए कर रहे हैं.

खैर, यह तो तय है कि भले ही अभी तक कोई वादा मोदी जी पूरा न कर पाए हों लेकिन 2019 के चुनाव में भक्तगण मोदी को फिर से जिताने के लिए ऐड़ी-चोटी का जोर तो लगा ही देंगे. लेकिन मोदी जी अपने वादों को पूरा करने के लिए कितना जोर लगाएंगे, यह तो तभी पता चल पाएगा, जब वह दोबारा जीतकर आएंगें.
लेखक अश्वनी कुमार श्रीवास्तव के अपने विचार है.

Tags:    
Share it
Top