Home > Archived > मोदी, अगर मर्द हो तो, आठ साल की लड़की आफिशा की हत्या-बलात्कार के खिलाफ उपवास के खिलाफ अनशन-उपवास पर बैठो!

मोदी, अगर मर्द हो तो, आठ साल की लड़की आफिशा की हत्या-बलात्कार के खिलाफ उपवास के खिलाफ अनशन-उपवास पर बैठो!

 शिव कुमार मिश्र |  11 April 2018 12:25 PM GMT  |  लखनऊ

मोदी, अगर मर्द हो तो, आठ साल की लड़की आफिशा की हत्या-बलात्कार के खिलाफ उपवास के खिलाफ अनशन-उपवास पर बैठो!

अमरेश मिश्र

मोदी, एक आठ साल की गूजर बच्ची के साथ 'देव्स्थान' मन्दिर के अन्दर, भगवान की मूर्ती के सामने, जम्मू मे तुम्हारे हिन्दुत्ववादियों ने बलात्कार किया! लगातार तीन दिन! उसके गुप्तांगों को जलाया, मेरठ से और हिंदुत्ववादी बुलाये गये जिससे वे अपनी 'हवस' मिटा सके।


इस घिनौने कृत्य मे नाबालिग हिन्दुत्ववादी भी शामिल थे। ये मामला निर्भय काण्ड से भिन्न कैसे हुआ? शम्भुनाथ रेगर ने एक ज़िन्दा इन्सान को कैमरे के सामने जलाया। उस कमीने को तुम्हारे हिन्दुत्व्वादियों ने हीरो बना दिया! RSS के लम्पटों ने कोर्ट के उपर भगवा झन्डा फैरा दिया!

जम्मू काण्ड मे तुम्हारे लम्पट संघी, पुलिस अफसर खजूरिया, यानी दूसरा शम्भुनाथ रेगर, यानी आठ साल की गूजर लड़की का बलात्कारी और नृशंस हत्यारा--के बचाव मे तिरंगा लेकर पहुंच गये!
और तुम मोदी? तुम प्रधानमन्त्री हो? भारत के? सच? तुमने रेगर का विरोध किया? तुमने खजूरिया और जम्मू के बलात्कारी संघी-हिन्दुत्व्वादियों की आलोचना की? जानते हो, आठ साल की गूजर लड़की को तीन दिन बलात्कार के बाद पत्थर मार-मार कर खत्म कर दिया गया। मरना से पहले, संघी खजूरिया ने कहा कि "रुको मुझे इस लड़की से एक और बार बलात्कार करना है! मैं इसका भी मज़ा लेना चाहता हूं--किसी लड़की के मरने के पहले, उसे आखरी बार रेप-बलात्कार करने का मज़ा!"
तुम बीमार हो मोदी! तुम्हे कोढ़ी होकर मरोगे--यह एक ब्राहमण का श्राप है! बलात्कार, और बलात्कार के बाद हत्या, पहले भी हुए हैं--पर एक फासिवादी-संघी-हिन्दुत्ववादी विचारधारा के तहत, एक आठ साल की लड़की के साथ, उसकी जाति और धर्म को चीन्हित करके, पहली बार ऐसा संस्थाबध बलात्कार-हत्या घटित हुई।
मोदी, तुमने महान सनातन धर्म को कहीं का नही छोड़ा...अपने कोरपोरेट मित्रों-यारा पूंजीवाद (crony capitalism) को आगे बढ़ाने के लिये तुमने संघी अपराधियों को खुला छोड़ दिया। और अब वो बेलगाम हो गये हैं--
और तुम नाटक कर रहे हो? अनशन-उपवास का नाटक? तुम्हे शर्म नही आती?
अगर मर्द हो तो, आठ साल की लड़की आफिशा की हत्या-बलात्कार के खिलाफ उपवास के खिलाफ अनशन-उपवास पर बैठो!

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top